सरमथुरा के चिकित्सक ने निकाला मासूम का गुर्दा, दी नई जिंदगी

सरमथुरा. स्थानीय निवासी एक चिकित्सक ने दो वर्ष के मासूम का गुर्दा निकाल कर उसे नई जिंदगी दी है। जयपुर के एक निजी चिकित्सालय में तैनात डॉ. नरेश गर्ग ने दुर्लभ ऑपरेशन कर क्षेत्र का नाम ऊंचा किया है।

By: Naresh

Published: 16 Jan 2021, 12:36 PM IST

सरमथुरा के चिकित्सक ने निकाला मासूम का गुर्दा, दी नई जिंदगी
सरमथुरा. स्थानीय निवासी एक चिकित्सक ने दो वर्ष के मासूम का गुर्दा निकाल कर उसे नई जिंदगी दी है। जयपुर के एक निजी चिकित्सालय में तैनात डॉ. नरेश गर्ग ने दुर्लभ ऑपरेशन कर क्षेत्र का नाम ऊंचा किया है। कस्बे के उपला बाजार निवासी हरिशंकर के बड़े बेटे नरेश गर्ग वर्तमान में जयपुर में निजी चिकित्सालय में कार्यरत है। हाल ही में एक 2 वर्षीय मासूम पीयूष की सर्जरी कर उसका बायां गुर्दा निकाला है। डॉ. नरेश गर्ग ने बताया कि बच्चे के अभिभावकों को उसके गुर्दे के विकार के विषय में जन्म से ही पता था, लेकिन अभिभावकों ने बच्चे को भगवान की नीयती मान लिया। जन्म के बाद जैसे-जैसे बच्चे की उम्र बढ़ती गई। बच्चे का पेट भी फूलने लगा। बच्चे को बार-बार पेशाब आने लगा। जांच में पता चला कि बच्चे के बायां गुर्दे का आकार बढऩे के कारण बच्चे के अमाशय में पेशाब की थैली का बहुत ज्यादा दबाव है। इसके कारण बच्चे को बार-बार पेशाब आता है। भूख के अनुपात में कम खाना खाने के कारण बच्चे का विकास भी बाधित हो रहा था। बच्चे की उम्र को ध्यान में रखते हुए बच्चे के बाएं गुर्दे को निकालने का कठिन निर्णय लिया। दूरबीन पद्धति से बच्चे का बायां गुर्दा निकाला। ऑपरेशन सफल रहा। चिकित्सा क्षेत्र में ऑपरेशन को दुर्लभ ऑपरेशन माना जा रहा है। सरमथुरा वासी लोगों का भी सिर गर्व से ऊंचा हो गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned