शर्मनाक: रात में दिव्यांग बालिका को बीच बाजार में लावारिस छोड़े गए परिजन

धौलपुर. धौलपुर जिला मुख्यालय पर मंगलवार रात को एक शर्मनाक घटना सामने आई, जिससे सामाजिक तानाबाना तार-तार होता दिखाई दिया। सामाज को झकझोर देने वाला वाक्या हुआ है। संभवतया: कोई परिजन पन्द्रह वर्षयी दिव्यांग, मानसिक विमंदित बालिका को बीच बाजार में रात को छोड़ गया।

By: Naresh

Published: 21 Jul 2021, 10:24 PM IST

शर्मनाक: रात में दिव्यांग बालिका को बीच बाजार में लावारिस छोड़े गए परिजन
बाल कल्याण समिति ने कराया इलाज, पुलिस में की शिकायत

धौलपुर. धौलपुर जिला मुख्यालय पर मंगलवार रात को एक शर्मनाक घटना सामने आई, जिससे सामाजिक तानाबाना तार-तार होता दिखाई दिया। सामाज को झकझोर देने वाला वाक्या हुआ है। संभवतया: कोई परिजन पन्द्रह वर्षयी दिव्यांग, मानसिक विमंदित बालिका को बीच बाजार में रात को छोड़ गया। सुबह लोगों को पता लगा तो मौके पर चाइल्ड लाइन ने बालिका को सुपुर्दगी में लेकर बाल कल्याण समिति सदस्य बृजेश मुखरिया के समक्ष पेश किया। फिलहाल बालिका को सखी सेंटर वन स्टॉप पर प्रवेशित कराया गया है। समिति सदस्य बृजेश मुखरिया ने बताया कि प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि बालिका को किसी व्यक्ति द्वारा जानबूझकर शहर के बीच छोड़ा गया है। इसकी जांच करने के लिए पुलिस को लिखा गया है। पुलिस कार्रवाई करने के बाद पता चल पाएगा कि बालिका के प्राकृतिक संरक्षक कौन हैं। इस हालत में क्यों छोड़ा है। जो भी मुजरिम होगा। उसके खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि बालिका की मनोचिकित्सक डा. सुमित मित्तल द्वारा जांच की गई है। पुनर्वास के लिए विभिन्न विभिन्न संस्थाओं में संपर्क किया जा रहा है। बालिका के उचित पुनर्वास के लिए समिति जल्द से जल्द कार्रवाई कर रही है। बाल कल्याण समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि जांच परीक्षण के बाद प्रतीत हुआ है कि बालिका बोलने, सुनने, समझने में असमर्थ है। जो भी व्यक्ति बालिका को छोड़ कर गए हैं। उनके खिलाफ जांच आने के बाद नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। बालिका को अच्छे से अच्छी जगह पुनर्वास करवाया जाएगा। कार्रवाई के दौरान चाइल्ड लाइन जिला समन्वयक रीना त्यागी, सखी सेंटर स्टॉप उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned