scriptकोर्ट परिसर में बरसाती पानी से हालात बदतर, डीएम ने लिया जायजा | Situation worsened due to rain water in court premises, DM took stock | Patrika News
धौलपुर

कोर्ट परिसर में बरसाती पानी से हालात बदतर, डीएम ने लिया जायजा

– अधिवक्ताओं ने जताई नाराजगी, बोले

– नालों की सफाई नहीं कराई

– प्री-मानसून की बरसात से सफाई व्यवस्था की खोल दी पोल

धौलपुरJun 28, 2024 / 11:44 am

Naresh

Situation worsened due to rain water in court premises, DM took stock कोर्ट परिसर में बरसाती पानी से हालात बदतर, डीएम ने लिया जायजा
– अधिवक्ताओं ने जताई नाराजगी, बोले

– नालों की सफाई नहीं कराई

– प्री-मानसून की बरसात से सफाई व्यवस्था की खोल दी पोल

धौलपुर. प्री-मानसून की बरसात में शहर में पानी-पानी कर दिया। हालात ये थे कि कई स्थानों पर रात तक गंदा पानी नहीं निकला। नगर परिषद की सफाई व्यवस्था की पोल न्यायालय परिसर इलाके में खुल गई। जिला न्यायालय परिसर जलमग्न नजर आया। यहां अधिकांश कोर्ट कक्षोंं बारिश का पानी भरा हुआ था। हाल ये था कि कोर्ट कर्मचारियों को फाइलों को पानी से बचाने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी। ऐसा नहीं कि नगर परिषद प्रशासन को इन हालात की पहले से जानकारी नहीं थी। पिछले साल हुई बरसात के बाद जगह-जगह हुए जलभराव के बाद भी परिषद ने सबक नहीं सीखा। अधिकारी चैम्बरों में की बैठे-बैठे निर्देश देते रहे। जिन सफाई की जिम्मेदारी थी, वे केवल खानापूर्ति करने में जुटे थे। गुरुवार को कोर्ट परिसर में बिगड़ी स्थिति को लेकर अधिवक्ताओं ने खासी नाराजगी जताई।
न्यायालय परिसर से गुजरने वाले नाले की सफाई नहीं करने के आरोप लगे। अधिवक्ता जिला एवं सत्र न्यायाधीश सतीश चंद से मिले। जिन्होंने तत्काल जिला कलक्टर श्रीनिधि बी टी को बुलाकर मौका स्थिति से अवगत कराया। जिला कलक्टर ने आश्वासन दिया कि वह अधिवक्ताओं को इस समस्या से स्थाई निजात दिलाएंगे। उन्होंने मौके से ही रेलवे अधिकारियों से वार्ताकार खलतियों से निकलने वाली रेलवे लाइन में अंडरपास के माध्यम से नाला बनाए जाने की बात की। जिससे शहर वासियों को जल भराव की समस्या से छुटकारा दिलाया जा सके। धौलपुर अभिभाषक संघ के महासचिव सतीश शर्मा ने बताया कि बरसात के दिनों में न्यायालय परिसर में बरसात के बाद कीचड़ सडक़ों पर जमा हो जाती है जिसे नगर परिषद की ओर से समय पर नहीं साफ किया जाता। जिससे अधिवक्ताओं को अपने कार्य करने में परेशानी का सामना करना पड़ता है।
रेलवे की पुलिया कछुआ गति से निर्माण कार्य

बता दें कि रेलवे की जिस पुलिया से शहर का बरसाती पानी निकलता है, उसका कार्य कछुआ गति से चल रहा है। कई दिनों से कार्य चलने के बाद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है। अब ताजा बरसात से पुलिया का कार्य कराने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
खलतियों के पीछे नाले की नहीं ली सुध…

अग्रवाल धर्मशाला के पीछे की तरफ खलतियों में साइड से पुराना नाला निकल रहा है। इस नाले की नगर परिषद अधिकारियों को जानकारी होने के बाद भी तय समय में सफाई नहीं करवाई। उधर, संवेदक का कहना था कि ये नाला उसके ठेके में शामिल नहीं है। अगर इस नाले की सफाई समय पर हो जाती तो शहर में हो रहे जलभराव से काफी निजात मिलती। उधर, नगर परिषद अधिकारी जिला प्रशासन को हकीकत से गुमराह करने में लगे हुए हैं।
– कोर्ट परिसर का जायजा लिया था। अतिक्रमण की वजह से यह स्थिति बनी है। रेलवे के नाले निर्माण को लेकर निर्देश दिए हैं। वह भी स्वयं जाकर मौका देखेंगे।

– श्रीनिधि बी टी, जिला कलक्टर, धौलपुर

Hindi News/ Dholpur / कोर्ट परिसर में बरसाती पानी से हालात बदतर, डीएम ने लिया जायजा

ट्रेंडिंग वीडियो