नर्सेज का राज्यस्तरीय चरण बंद आंदोलन शुरू, सरकार को एक माह की मोहलत

धौलपुर. राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन एकीकृत के प्रांतीय आह्वान पर जयपुर सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज द्वार पर आयोजित एक दिवसीय ध्यानाकर्षण धरने में धौलपुर सहित राज्य भर के जिलों से आए नर्सेज प्रतिनिधियों ने प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राणा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। नर्सेज प्रतिनिधियों ने सरकार द्वारा बजट 2021 में नर्सेज की मांगों की उपेक्षा करने पर नाराजगी जताते हुए राज्यव्यापी चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा करते हुए राज्य भर में 5 अप्रेल से संभागवार धरने के साथ राज्य भर में कड़ा आंदोलन की चेतावनी

By: Naresh

Published: 06 Mar 2021, 03:17 PM IST

नर्सेज का राज्यस्तरीय चरण बंद आंदोलन शुरू, सरकार को एक माह की मोहलत
- 5 अपे्रल से संभागवार धरनों की घोषणा
धौलपुर से नर्सेज ने लिया धरने में भाग

धौलपुर. राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन एकीकृत के प्रांतीय आह्वान पर जयपुर सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज द्वार पर आयोजित एक दिवसीय ध्यानाकर्षण धरने में धौलपुर सहित राज्य भर के जिलों से आए नर्सेज प्रतिनिधियों ने प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राणा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। नर्सेज प्रतिनिधियों ने सरकार द्वारा बजट 2021 में नर्सेज की मांगों की उपेक्षा करने पर नाराजगी जताते हुए राज्यव्यापी चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा करते हुए राज्य भर में 5 अप्रेल से संभागवार धरने के साथ राज्य भर में कड़ा आंदोलन की चेतावनी दी है।
नर्सेज प्रतिनिधि मंडल द्वारा मुख्यमंत्री, चिकित्सा मंत्री एवं प्रमुख शासन सचिव कार्यालय में ज्ञापन भी सौंपा गए। प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र राणा ने चुनाव प्रबंधन में जुटे नर्सेज कर्मियों की जायज जन समस्याओं की सरकार द्वारा निर्णय पर उन्हें राज्यव्यापी आंदोलन के लिए मजबूत करने का आरोप लगाया।
आंदोलन का राज्य नर्सेज एसोसिएश प्रदेश अध्यक्ष खुशीराम मीणा, दी नर्सिंग टीचर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया प्रदेश अध्यक्ष पुरुषोत्तम कुंभज, एनएचएम एसोसिएशन प्रदेश अध्यक्ष सुरेश चावड़ा एवं कर्मचारी महासंघ एकीकृत ने समर्थन किया है।
जिला उपाध्यक्ष मुकेश शर्मा ने बताया कि कोरोना काल में नर्सेज ने अदम्य साहस से कार्य किया। उसकी प्रशंसा राज्य के समस्त जनप्रतिनिधियों ने भी की। चिकित्सा मंत्री ने सार्वजनिक रूप से नर्सेज को प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र एवं अन्य राज्यों के समान नर्सिंग ऑफिसर, सीनियर नर्सिंग ऑफिसर, नर्सिंग व्याख्याता इत्यादि करने का आश्वासन दिया। साथ ही मुख्यमंत्री ने कोरोना प्रोत्साहन राशी तथा कोरोना हार्ड ड्यूटी इंसेटिव के आदेश किए गए, परंतु धरातल पर नर्सेज को कोई लाभ नहीं मिला। वहीं बजट 2021 में भारी उपेक्षा हुई हैं। वहीं संविदा कर्मियों के नियमितीकरण एवं मानदेय वृद्धि के लिए कमेटी गठित की गई, लेकिन समस्या जस की तस है। धरने को संभागीय मंत्री जितेंद्र कुमार, जिला महामन्त्री सुरेश लोधा, लोकेश तिवारी, लाखन सिंह, जितेंद्र सिंह, फूलसिंह मीना, नीरज मीना ने संबोधित किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned