तीन करोड़ की लागत से होगा तीर्थराज मचकुण्ड का कायाकल्प

धौलपुर. देवस्थान विभाग द्वारा तीर्थराज मचकुंड के जीर्ण शीर्ण मंदिरों का जीर्णोद्धार करने के लिए के प्रस्ताव को राज्य सरकार ने मंजूरी दी है। मचकुण्ड के पश्चिमी घाट से प्रारंभ होकर समस्त खंडहरनुमा छतरियों का जीर्णोद्धार होगा। जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने तीर्थराज मचकुण्ड में विधि विधान से पूजा अर्चना कर निर्माण का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि पुरातात्विक धरोहर को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा जीर्णोद्धार करवाया जाएगा।

By: Naresh

Updated: 05 Mar 2021, 11:35 AM IST

तीन करोड़ की लागत से होगा तीर्थराज मचकुण्ड का कायाकल्प
धौलपुर. देवस्थान विभाग द्वारा तीर्थराज मचकुंड के जीर्ण शीर्ण मंदिरों का जीर्णोद्धार करने के लिए के प्रस्ताव को राज्य सरकार ने मंजूरी दी है। मचकुण्ड के पश्चिमी घाट से प्रारंभ होकर समस्त खंडहरनुमा छतरियों का जीर्णोद्धार होगा। जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने तीर्थराज मचकुण्ड में विधि विधान से पूजा अर्चना कर निर्माण का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि पुरातात्विक धरोहर को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा जीर्णोद्धार करवाया जाएगा। पुरातात्विक विभाग राज्य सरकार द्वारा 2 करोड़ 98 लाख रुपए की राशि से स्वीकृत की गई है। तीर्थराज मचकुंड में श्रीलाडली जगमोहन मंदिर जू सरकार के दर्शन बिना मचकुंड के दर्शन अधूरे माने जाते है। महंत कृष्णदास ने मचकुंड के लिए राशि जारी होने से विकास कार्यों के लिए प्रसन्नता जताई। देवस्थान विभाग द्वारा मचकुंड का कायाकल्प होने से विकास की संभावनाएं बढ़ेंगी। परिक्रमा स्थल में जीर्ण शीर्ण मंदिरों का भी पुरातत्व विभाग व पर्यटन विभाग के सहयोग से जीर्णोद्धार का कार्य किया गया है। इस मौके पर सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी राजकुमार मीणा, नगर परिषद आयुक्त सौरभ जिंदल, मुरारीलाल सिंघल, मचकुंड महंत कृष्णदास सहित अन्य मौजूद रहे।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned