संदिग्ध अवस्था में नव विवाहित का शव मिला,परिजनों का हत्या का आरोप ससुरालीजन फरार

राजाखेड़ा. राजाखेड़ा के वार्ड 25 के एक घर में शुक्रवार शाम नवविवाहिता का शव संदिग्धावस्था में मिलने से हडक़ंप मच गया। जिसके ससुरालीजन घर को खुला छोड़ कर फरार हो चुके थे। देर शाम मृतका के पिता और परिजन जवाहरपुर थाना फतेहाबाद जिला आगरा से राजाखेड़ा पहुंचे और राजाखेड़ा थाने में ससुरालीजनों के विरुद्ध दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया। पुलिस ने देर रात्रि में ही शव को कब्जे में लेकर प्राथमिक जांच पड़ताल की और शव को शहीद राघवेंद्र सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रखवाया।

By: Naresh

Published: 27 Sep 2020, 10:43 AM IST

संदिग्ध अवस्था में नव विवाहित का शव मिला,परिजनों का हत्या का आरोप ससुरालीजन फरार
राजाखेड़ा. राजाखेड़ा के वार्ड 25 के एक घर में शुक्रवार शाम नवविवाहिता का शव संदिग्धावस्था में मिलने से हडक़ंप मच गया। जिसके ससुरालीजन घर को खुला छोड़ कर फरार हो चुके थे। देर शाम मृतका के पिता और परिजन जवाहरपुर थाना फतेहाबाद जिला आगरा से राजाखेड़ा पहुंचे और राजाखेड़ा थाने में ससुरालीजनों के विरुद्ध दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया। पुलिस ने देर रात्रि में ही शव को कब्जे में लेकर प्राथमिक जांच पड़ताल की और शव को शहीद राघवेंद्र सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रखवाया। जिसका शनिवार को पोस्टमार्टम करा परिजनों को सुपुर्द कर दिया। मामला दर्ज कर जांच आरम्भ कर दी है। मृतका के पिता मेघसिंह पुत्र छोटेलाल ठाकुर निवासी जवाहरपुर थाना फतेहाबाद ने प्राथमिकी दर्ज करवाई है। इसमें बताया कि 25 सितम्बर सुबह साढ़े आठ बजे के करीबन प्रार्थी की पुत्री सुमन को दहेज की मांग पूरी ना करने के कारण पति अजय पुत्र रमेश, ससुर रमेश पुत्र रूपसिंह, सास गुड्डी, ननद सपना, शिवराम पुत्र नत्थीलाल निवासी सिंघावली खुर्द ने मिलकर साजिश कर चुन्नी से गला दबाकर हत्या कर दी है। सभी आरोपी हत्या कर मौके से फरार हो गए हैं। मेघसिंह ने पुलिस को बताया कि उसने अपनी पुत्री का विवाह अजय के साथ इसी वर्ष 30 जून को कराया था। अपनी पुत्री के विवाह में खुब दान दहेज दिया था। करीबन 10 लाख की शादी की। विवाह से एक सप्ताह बाद सुमन दूसरी बार विदा होकर अपनी ससुराल गई तो आरोपितों का व्यवहार उसकी पुत्री के साथ अच्छा नहीं रहा। बात बात पर ताने मारते रहते थे। वह प्रार्थी की पुत्री से दहेज में नकद 5 लाख रुपए की मांग करने लगे। मांग पूरी ना करने पर उसे प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। जिसकी शिकायत सुमन ने कई बार की। लेकिन वह अपनी पुत्री को समझा दिया करता था, कि सब कुछ ठीक हो जाएगा। लेकिन आखिरकार आरोपियों ने दहेज की खातिर उसकी पुत्री को मौत के घाट उतार दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned