scriptThe budget of 84 crores released for the incomplete saver Chambal brid | अधूुरे सेवर चम्बल पुल के लिए जारी किया 84 करोड़ का बजट पत्रिका ने उठाया था मामला | Patrika News

अधूुरे सेवर चम्बल पुल के लिए जारी किया 84 करोड़ का बजट पत्रिका ने उठाया था मामला

धौलपुर. बाड़ी.उपखंड के चंबल किनारे डांग क्षेत्र में सेवर-पाली अधूर चम्बल पुल के लिए राज्य सरकार ने ८४ करोड़ रुपए का बजट जारी किया है। इसके लिए खुद मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति होने की जानकारी दी है। ऐसे में डांग के विकास की भी उम्मीद जगी है। वहीं सरमथुरा-बाड़ी

धौलपुर

Updated: July 18, 2021 11:20:40 pm

अधूुरे सेवर चम्बल पुल के लिए जारी किया 84 करोड़ का बजट पत्रिका ने उठाया था मामला

डांग के सेवर घाट पर अधूरे पुल के पूरे होने की जगी आस
- डांग के विकास में नींव की ईंट साबित होगा चम्बल पुल
-
धौलपुर. बाड़ी.उपखंड के चंबल किनारे डांग क्षेत्र में सेवर-पाली अधूर चम्बल पुल के लिए राज्य सरकार ने ८४ करोड़ रुपए का बजट जारी किया है। इसके लिए खुद मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति होने की जानकारी दी है। ऐसे में डांग के विकास की भी उम्मीद जगी है। वहीं सरमथुरा-बाड़ी ेजौरा की दूरी मात्र १२ से १५ किलोमीटर रह जाएगी। जबकि अभी करीब सौ किलोमीटर दूर तक यात्रा करनी पड़ती है या फिर नाव से चम्बल को पार करना पड़ता है।
करीब दो दशक से सेवर घाट पर बन रहे चंबल के अधूरे पुल पर फिर से निर्माण कार्य होने जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा में बजट भाषण की घोषणा को अब वित्तीय स्वीकृति में बदल दिया है। प्रदेश के मुखिया ने डांग के लोगों के विकास के लिए 84 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति दी है। ऐसे में इस पुल का निर्माण इस वर्ष शुरू होने की उम्मीद जगी है।
बाड़ी उपखंड के दक्षिण में स्थित डांग में दर्जनों की संख्या में गांव है। जहां के लोग आदिवासी जीवन जीते हैं। उनके लिए प्राथमिक जरूरतें भी पूरी नहीं हो पाती है। सड़़क, बिजली और पानी यह तीन आवश्यकताएं भी डांग के लोगों को नसीब नहीं है। कारण ना तो वहां सड़क का विकास हो पाया है, ना बिजली की लाइन पहुंची है। ऐसे में पानी भी नसीब नहीं हो पाता है, लेकिन अब इन तीनों समस्याओं का खात्मा होना होने जा रहा है। डांग में सेवर गांव के पास अधूरे पुल के पूरा होने से मध्य प्रदेश को जाने के लिए एक ऐसा रास्ता मिलेगा, जो मध्यप्रदेश की दूरी को भी आधा कर देगा।
ढाई दशक से अधूरा पुल
The budget of 84 crores released for the incomplete saver Chambal bridge was raised by the magazine
अधूुरे सेवर चम्बल पुल के लिए जारी किया 84 करोड़ का बजट पत्रिका ने उठाया था मामला
सेवर घाट पर आज से करीब ढाई दशक पहले नदी पर पुल बनाया जा रहा था, लेकिन इस दौरान पुल निर्माण के दौरान एक स्पान (दो खम्भों की दूरी) की दूरी निर्धारित से अधिक हो गई। इस खामी के कारण पुल को रोक दिया गया। साथ ही अधिकारियों के खिलाफ जांच भी हुई। मामला जांच में चला गया। जांच ऐसी बैठी की कागजों में अटक गई और तब से पूल अधूरा पड़ा है, इस मामले को राजस्थान पत्रिका ने प्रमुखता से उठाया है। साथ ही इस तकनीकी खामी को लेकर २६ अगस्त २०१९ को प्रदेश स्तर पर उठाया था। वहीं बाड़ी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा के लगातार प्रयासों और विधानसभा में उठाए गई मांगों के चलते मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए बजट भाषण में पुल निर्माण की घोषणा की। अब मुख्यमंत्री द्वारा पुल निर्माण के लिए प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति जारी की है। जिसमें 84 करोड़ अनुमानित लागत की वित्तीय स्वीकृति दी गई है।
इनका कहना है
डांग के सेवर पर जो पुल अधूरा पड़ा था, जिसको लेकर यहां के लोग सपने में भी पूरा होने की उम्मीद नहीं रखते थे। कई बार तो मुझे भी लगता था कि इस मांग को पूरा कर पाऊंगा या नहीं, लेकिन प्रदेश के मुखिया द्वारा संवेदनशीलता दिखाते हुए मेरी इस मांग को पूरा करने के लिए ना केवल विधान सभा में घोषणा की, बल्कि बजट भी जारी किया हैं। निश्चित ही डांग का विकास होगा। डांग के जीवन में खुशहाली आएगी और मध्य प्रदेश के सबलगढ़, जौरा, कैलारस और ग्वालियर जाने के लिए के साथ राजस्थान के कोटा जाने के लिए एक नया रास्ता मिलेगा। इससे डांग में विकास होगा और डांग के लोगों को रोजगार मिलेगा।
गिर्राज सिंह मलिंगा, विधायक, बाड़ी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतरणवीर सिंह के बेडरूम सीक्रेट आए सामने,दीपिका को नहीं करने देते ये कामइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावधनु, मकर और कुंभ वालों को कब मिलेगी शनि साढ़े साती से मुक्ति, जानिए सही डेटदेश में धूम मचाने आ रही हैं Maruti की ये शानदार CNG कारें, हैचबैक से लेकर SUV जैसी गाड़ियां शामिल

बड़ी खबरें

RRB-NTPC Results: प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले रेल मंत्री, रेलवे आपकी संपत्ति है, इसको संभालकर रखेंRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रRepublic Day 2022: 'अमृत महोत्सव' के आलोक में सशक्त बने भारतीय गणतंत्रमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेमहाराष्ट्रः Google के CEO सुंदर पिचई के खिलाफ दर्ज हुई FIR, जानिए क्या है मामलाUP Election 2022: छठां चरण- योगी आदित्यनाथ के लिए गोरखपुर सदर सुरक्षित घरेलू सीट, मगर...
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.