परिजनों को रास नहीं आ रहा प्रेम-विवाह, खतरे को देख दंपत्ती ने ली न्यायालय की शरण

धौलपुर/राजाखेड़ा. राजाखेड़ा में हाल में ऑनर किलिंग मामले में पुलिस की अनुसंधान जारी बनी हुई, ऐसे में धौलपुर तहसील के गांव सहांपुर में प्रेम विवाह करने वाले युवक-युवती पर जान मारने की योजना तैयार करने का मामला सामने आया है। जान लेवा हमला होने से आशंकित युगल ने उच्च न्यायालय की शरण ली है। यहां से उन्हें जीवन की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिस सुरक्षा के निर्देश दिए गए है।

By: Naresh

Published: 07 Jul 2020, 08:12 PM IST


परिजनों को रास नहीं आ रहा प्रेम-विवाह, खतरे को देख दंपत्ती ने ली न्यायालय की शरण
-पुलिस को सुरक्षा सुनिश्चत करने के निर्देश
धौलपुर/राजाखेड़ा. राजाखेड़ा में हाल में ऑनर किलिंग मामले में पुलिस की अनुसंधान जारी बनी हुई, ऐसे में धौलपुर तहसील के गांव सहांपुर में प्रेम विवाह करने वाले युवक-युवती पर जान मारने की योजना तैयार करने का मामला सामने आया है। जान लेवा हमला होने से आशंकित युगल ने उच्च न्यायालय की शरण ली है। यहां से उन्हें जीवन की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिस सुरक्षा के निर्देश दिए गए है।
क्या है मामला
उच्च न्यायालय के अधिवक्ता गोविंद उपाध्याय ने पैरवी करते हुए न्यायालय को बताया कि नीरज कुमारी पुत्री जसवंत सिंह निवासी सहांपुर के प्रेम संबंध गांव निभि निवासी संतोष पुत्र जगदीश सिंह से थे । ये दोनों आपस मे रिश्तेदार भी हैं । दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन युवती के परिजन इसके लिए तैयार नहीं थे । जिस पर मजबूरी बस प्रेमी युगल ने कुछ परिजनों और मित्रों की उपस्थिति में हिन्दू रीति रिवाज से गत 5 जून को शादी कर ली। जो परिजनों को नागवार गुजरी ओर वे इस प्रेमी विवाहित जोड़़ के दुश्मन बन गए। ऐसे में जोड़े के लिए अपने जीवन की सुरक्षा की चिंता में ईधर-उधर जान बचा के सुरक्षित रहना पड़ा । आखिर में विवाहित जोड़े ने उच्च न्यायालय में उपस्थित होकर अपनी आजादी और सुरक्षा की मांग उठाई।
ये दिया आदेश
न्यायालय के न्यायमूर्ति महेंद्र कुमार गोयल ने जोड़
े को बालिग ओर हिन्दू रीति रिवाज से अनुकूल पाते हुए उनके जीवन और आजादी पर खतरा मानते हुए थानाधिकारी कोतवाली धौलपुर को आदेश दिया कि संतोष और नीरज के जीवन की आजादी और सुरक्षा सुनिश्चित की जाए । जिससे वे अपना नैसर्गिक जीवन जी सके।
आपस मे हैं रिश्तेदार
संतोष ओर नीरज ने बताया कि वे 7, 8 वर्ष पूर्व एक शादी में वे एक दूसरे से संपर्क में आ गए और तभी से नजदीकियां बढ़ती चली गयी। लेकिन उनके परिवार आपस मे रिश्तेदार भी है। ऐसे में नीरज कुमारी के परिजन इस शादी को किसी भी कीमत पर नहीं होने देना चाहते थे। लेकिन उन दोनों ने हार नहीं मानी और अपने जीवन के सपनों को परवान चढ़ाते हुए शादी कर ली ।
एक माह पहले ऑनर किलिंग घटना से डर का माहौल
उल्लेखनीय है गत 6 जून को राजाखेड़ा के उत्तनगन तटवर्ती कसियापुरा क्षेत्र के गांव लायका की ठार पर इन्हीं हालात में प्रेम प्रसंग के चलते युवक-युवती की परिजन जनों ने हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद संतोष ओर नीरज भी अंदर तक सिहर उठे थे । फिर भी अपने निर्णय पर अडिग रहकर एक दूसरे का हाथ थाम लिया।।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned