टाइगर ने फिर दी क्षेत्र में दस्तक, भैंस का किया शिकार

सरमथुरा. वन क्षेत्र के घढ़ी डोमई के जंगल में टाइगर ने एक बार फिर अपनी मौजूदगी का अहसास करवाया है। वहां टाइगर ने एक भैंस को अपना शिकार बनाया है। जानकारी सामने आने के बाद ही घढ़ी डोमई सहित आस पास के गांवों में दहशत का माहौल बना हुआ है। ग्रामीणों ने बताया गया कि सरमथुरा क्षेत्र के गांव घढ़ी डोमई के जंगल में एक भैंस मृत अवस्था में पड़ी मिली हैं।

By: Naresh

Updated: 01 Aug 2020, 09:17 AM IST

टाइगर ने फिर दी क्षेत्र में दस्तक, भैंस का किया शिकार
कुछ दिन पहले किया था बैल का शिकार
सरमथुरा. वन क्षेत्र के घढ़ी डोमई के जंगल में टाइगर ने एक बार फिर अपनी मौजूदगी का अहसास करवाया है। वहां टाइगर ने एक भैंस को अपना शिकार बनाया है। जानकारी सामने आने के बाद ही घढ़ी डोमई सहित आस पास के गांवों में दहशत का माहौल बना हुआ है। ग्रामीणों ने बताया गया कि सरमथुरा क्षेत्र के गांव घढ़ी डोमई के जंगल में एक भैंस मृत अवस्था में पड़ी मिली हैं। चूकि पूर्व में भी टाइगर ने पालतू मवेशियों को अपना शिकार बनाया है। इस कारण इन भैंस का शिकार भी बाघ द्वारा ही किए जाने की बात कही जा रही है। बताया गया कि ग्रामीण अपने मवेशियों को चरने के लिए जंगलों में छोड़ देते है। वहीं बाघ ने शाम को करीब 3 बजे हमला कर भैंस को अपना शिकार बना लिया। पिछले दो तीन माह से बाघ गांव के आस पास ही डेरा डाले हुए है

ग्रामीण भयभीत
ग्रामीणों ने बताया कि बाघ की दस्तक के साथ ही गांव में भय का माहौल पैदा हो गया है। जिससे ग्रामीण अपने खेतों में जाने से भी कतराने लगे है। वहीं ग्रामीण टाइगर के भय से भयभीत है।

इनका कहना है
ग्रामीणों को टाइगर के मूवमेंट के कारण अकेले जंगलों में ना जाने की समझाइश की गई है। साथ ही भैंस के मालिक को उचित सहायता राशि के लिए आश्वस्त किया गया है कि कार्यवाही की जाएगी।
अमृतलाल मीणा, कार्यवाहक रेंजर, सरमथुरा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned