scriptUnderprivileged children could not join education, now three days ulti | शिक्षा से नहीं जुड़ पाए वंचित बच्चे, अब तीन दिन का अल्टीमेटम | Patrika News

शिक्षा से नहीं जुड़ पाए वंचित बच्चे, अब तीन दिन का अल्टीमेटम

- लक्ष्य पूरा नहीं हुआ, तो जिम्मेदार को चार्जशीट थमाने के निर्देश - धौलपुर जिले के पांच स्कूलों में नहीं हुआ काम धौलपुर. राज्य के सरकारी स्कूलों में अनामांकित, ड्रॉप आउट तथा आउट ऑफ स्कूल के बच्चों को जोडऩे के लिए समय-समय पर प्रवेशोत्सव की तिथियां बढ़ाने के बाद भी आधे बच्चों को ही सरकारी स्कूलों से जोड़ा जा सका है। इन हालात को विभाग ने गंभीरता से लिया है। शिक्षा निदेशक ने जिलेवार सर्वे में बताए गए अनामांकित, ड्रॉप आउट तथा स्कूल से वंचित बताए गए 77 हजार 253 बालक-बालिकाओं को हर हाल में स्कूलों स

धौलपुर

Published: September 12, 2022 06:46:43 pm

शिक्षा से नहीं जुड़ पाए वंचित बच्चे, अब तीन दिन का अल्टीमेटम

- लक्ष्य पूरा नहीं हुआ, तो जिम्मेदार को चार्जशीट थमाने के निर्देश

- धौलपुर जिले के पांच स्कूलों में नहीं हुआ काम
Underprivileged children could not join education, now three days ultimatum
शिक्षा से नहीं जुड़ पाए वंचित बच्चे, अब तीन दिन का अल्टीमेटम
धौलपुर. राज्य के सरकारी स्कूलों में अनामांकित, ड्रॉप आउट तथा आउट ऑफ स्कूल के बच्चों को जोडऩे के लिए समय-समय पर प्रवेशोत्सव की तिथियां बढ़ाने के बाद भी आधे बच्चों को ही सरकारी स्कूलों से जोड़ा जा सका है। इन हालात को विभाग ने गंभीरता से लिया है। शिक्षा निदेशक ने जिलेवार सर्वे में बताए गए अनामांकित, ड्रॉप आउट तथा स्कूल से वंचित बताए गए 77 हजार 253 बालक-बालिकाओं को हर हाल में स्कूलों से जोडऩे के निर्देश दिए थे। इसके लिए प्रवेश की तिथियां कई बार बढ़ाई गईं, ताकि इन बालक-बालिकाओं को सरकारी स्कूलों से जोड़ा जा सके, लेकिन स्कूलों में प्रवेश की अंतिम तिथि 7 सितंबर 22 के बाद भी शाला दर्पण पोर्टल पर केवल 38 हजार 443 बालक-बालिकाएं जुड़ी दिख रही हैं। विभाग ने जिलेवार अब तक स्कूलों से जोडऩे से वंचित रहे कुल 38 हजार 810 बालक-बालिकाओं की संख्या जारी करते हुए सभी जिलों के मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों तथा ब्लॉक संदर्भ प्रभारियों को तीन दिन में सभी शेष रहे बच्चों को हर हाल में सरकारी स्कूलों से जोडऩे के निर्देश दिए हैं। धौलपुर जिले में ऐसे पांच स्कूल हैं जहां अनामांकित, ड्रॉप आउट तथा आउट ऑफ स्कूल बच्चों को पुन: शिक्षा से नहीं जोड़ा गया है। इसके लिए नोटिस जारी किए गए हैं। साथ ही जो पीईईओ तथा यूसीईईओ की ओर से उनके क्षेत्र के अनामांकित, ड्रॉप आउट तथा स्कूल से वंचित शत-प्रतिशत बालक-बालिकाओं को स्कूल से जोडऩे में असफल रहे कार्मिक के खिलाफ चार्जशीट तैयार कर निदेशालय भेजने को कहा है।जिले में भी लक्ष्य पूरा नहींधौलपुर जिले में भी 683 अनामांकित और ड्रॉप आउट बच्चों को सरकारी स्कूलों से जोडऩे का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, लेकिन प्रवेश की अंतिम तिथि 7 सितंबर तक केवल 391 बच्चों को ही सरकारी स्कूलों से जोड़ा गया है। अभी भी 292 बच्चों को स्कूलों से जोडऩा बाकी रह गया है। अब इन शेष बच्चों को 3 दिवस में स्कूलों से जोडऩे के निर्देश दिए गए हैं। जिन संस्था प्रधानों द्वारा निर्धारित अवधि में शेष रहे शत-प्रतिशत बच्चों को नही जोड़ा जाता हैं तो उनके खिलाफ सीधे ही चार्जशीट तैयार कर निदेशालय को भेजने को कहा गया है।जारी सूची में सबसे ज्यादा वंचित उदयपुर, तो सबसे कम कोटा मेंविभाग द्वारा जिलेवार जारी सूची में स्कूलों में जोडऩे से वंचित बालक-बालिकाओं की सबसे अधिक संख्या 6 हजार 269 उदयपुर जिले में रही है, जबकि सबसे कम कोटा जिले में 41 बालक-बालिकाएं हैं। उदयपुर जिले में 14 हजार 460 बच्चों को स्कूलों से जोडऩे का लक्ष्य दिया गया था, लेकिन सिर्फ 8 हजार 191 बच्चों को ही जोड़ा जा सका है।इन स्कूलों में नहीं हो पाया कामधौलपुर जिले में बाड़ी ब्लॉक के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सेवरपाली परिक्षेत्र में 35 ऐसे बच्चे हैं जो कभी स्कूल नहीं गए। बसेड़ी ब्लॉक के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय महू गुलावली परिक्षेत्र में दो ड्रॉप आउट बच्चे हैं। धौलपुर ब्लॉक के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय फूलपुर परिक्षेत्र में 39 ऐसे बच्चे हैं जो कभी स्कूल नहीं गए। धौलपुर ब्लॉक के ही राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय जाटोली परिक्षेत्र में पांच ऐसे बच्चे हैं जो कभी स्कूल नहीं गए। सैंपऊ ब्लॉक के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रमगढ़ा परिक्षेत्र में 24 ऐसे बच्चे हैं जो कभी स्कूल नहीं गए। वहीं, यहां पांच ड्रॉपआउट बच्चे भी हैं। इन सभी स्कूलों में इन बच्चों को दोबारा शिक्षा से नहीं जोड़ा जा सका है। इनका कहना हैअनामांकित, ड्रॉप आउट तथा आउट ऑफ स्कूल बच्चों को पुन: शिक्षा से नहीं जोडऩे वाले पांच स्कूलों को नोटिस दिया गया है। उन्हें तीन दिन में सभी बच्चों को फिर से शिक्षा से जोडऩे के निर्देश दिए गए हैं।- मुकेश गर्ग, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, धौलपुर

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

लोन लेना हुआ महंगा, RBI ने लगातार चौथी बार 0.50 फीसदी बढ़ाया रेपो रेट, ज्यादा चुकाना होगी EMIअरविंद केजरीवाल का चौंकाने वाला दावा! अब राघव चड्ढा होंगे गिरफ्तारकांग्रेस आलाकमान ने दिखाए सख्त तेवर, गहलोत-पायलट खेमे को लेकर लिया ये बड़ा फैसलादिग्विजय नहीं भरेंगेे नामांकन, कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी पर संशय बरकरारएक माह में ही काबुल में एक और भीषण आतंकी हमला, निशाने पर शिया-हजारा समुदाय, दो दर्जन से अधिक छात्रों की हत्यारेलवे ने शुरू की अच्छी सर्विस, अब ट्रेन में सोते समय नहीं छूटेगा आपका स्टेशन, जानिए कैसे मिलेगी जानकारीWeather Report: दिल्ली सहित इन राज्यों से विदा हुआ मानसून, जानिए इस वर्ष कितनी कम हुई बारिशदेश को आज मिलेगी तीसरी वंदे भारत ट्रेन, पीएम मोदी दिखाएंगे झंडी, मिलेंगी ये सुविधाएं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.