scriptVideo: Injured AEN said - MLA Malinga thrashed by using casteist abusi | video: घायल एईएन ने कहा - विधायक मलिंगा ने जातिसूचक अपशब्द कह पीटा, विधायक बोले- विद्युतकर्मियों ने फैला रखा भ्रष्टाचार | Patrika News

video: घायल एईएन ने कहा - विधायक मलिंगा ने जातिसूचक अपशब्द कह पीटा, विधायक बोले- विद्युतकर्मियों ने फैला रखा भ्रष्टाचार

- बाड़ी में विद्युत निगम के एएईएन और जेईएन से मारपीट का मामला

- एईएन वाल्मीकि ने विधायक के खिलाफ दर्ज कराया मामला

- लोगों ने मारपीट कर तोड़ दिए थे हाथ-पैर

- पुलिस महानिदेशक ने बाड़ी सीओ एवं एसएचओ को किया निलंबित

धौलपुर

Published: March 29, 2022 06:45:25 pm

video: घायल एईएन ने कहा - विधायक मलिंगा ने जातिसूचक अपशब्द कह पीटा, विधायक बोले- विद्युतकर्मियों ने फैला रखा भ्रष्टाचार

- बाड़ी में विद्युत निगम के एएईएन और जेईएन से मारपीट का मामला

- एईएन वाल्मीकि ने विधायक के खिलाफ दर्ज कराया मामला
 Video: Injured AEN said - MLA Malinga thrashed by using casteist abusive words, MLA said - Electricity workers spread corruption
video: घायल एईएन ने कहा - विधायक मलिंगा ने जातिसूचक अपशब्द कह पीटा, विधायक बोले- विद्युतकर्मियों ने फैला रखा भ्रष्टाचार
- लोगों ने मारपीट कर तोड़ दिए थे हाथ-पैर

- पुलिस महानिदेशक ने बाड़ी सीओ एवं एसएचओ को किया निलंबित

धौलपुर. बाड़ी स्थित विद्युत निगम कार्यालय में सोमवार को सहायक अभियंता और कनिष्ठ अभियंता से मारपीट के मामले में नया मोड़ आ गया है। घायल सहायक अभियंता हर्षाधिपति वाल्मीकि ने पर्चा बयान के आधार पर बाड़ी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा और उनके समर्थकों पर दफ्तर में घुस कर मारपीट का मामला दर्ज कराया है। वहीं, इस मामले में विधायक का कहना है कि सहायक अभियंता ने क्षेत्र में भ्रष्टाचार फैला रखा था। मैं खुद इन अधिकारियों को यहां से हटाना चाहता था। भ्रष्टाचार से नाराज लोगों ने उनके साथ मारपीट की होगी। मुझे मामले में घसीटा जा रहा है। जांच में सच सामने आ जाएगा। बता दें, सोमवार को दोपहर करीब साढ़े बारह बजे बाड़ी स्थित विद्युत निगम के कार्यालय में कुछ लोगों ने घुस कर सहायक अभियंता और कनिष्ठ अभियंता से मारपीट की थी। उधर, पुलिस महानिदेशक ने बाड़ी वृत्त के पुलिस उपाधीक्षक बाबूलाल मीणा एवं बाड़ी थाना प्रभारी विजय सिंह को निलंबित किया है। निलंबन आदेश में विभागीय जांच प्रस्तावित होना लिखा गया है। हालांकि, क्षेत्र में चर्चा है कि दोनों अधिकारियों को विद्युत निगम अधिकारियों से मारपीट के मामले में ही निलंबित किया गया है।
यह कराई एफआइआर

एईएन हर्षाधिपति वाल्मीकि ने आगरा के पुष्पांजलि अस्पताल से पुलिस को दिए पर्चा बयान के आधार पर मामला दर्ज कराया है। घायल एईएन ने बताया कि सोमवार दोपहर करीब 12:20 बजे वे अपने दफ्तर में रिकवरी संबंधित बैठक कर रहे थे। तभी विधायक मलिंगा अपने कुछ समर्थकों के साथ आए। आरोप है कि विधायक ने कुर्सी उठाकर मारी और जातिसूचक अपशब्द कहते हुए कहा कि ठाकुरों के गांव से ट्रांसफार्मर उठाएगा। एईएन का कहना है कि मैंने समझाने की कोशिश की तो विधायक ने अपशब्द कहते हुए कहा कि महुआखेड़ा से ट्रांसफार्मर उतारेगा। विधायक के साथ आए लोगों ने लाठी-डंडे बरसाना शुरू कर दिया। मुझे गिरा कर मारते हुए पैरों, टखनों व सिर पर भी वार किए। इस बीच विधायक के साथ आए एक व्यक्ति ने अवैध हथियार मेरे सिर पर लगा दिया। इसके बाद विधायक व उनके समर्थक चले गए। थोड़ी देर बाद फिर विधायक और उनके समर्थक लौट कर आए। विधायक ने जातिसूचक अपशब्द कहते हुए समर्थकों से कहा कि मारो इसे। विधायक के साथ आए एक व्यक्ति जो खुद को वार्ड दो का पार्षद समीर खान बता रहा था ने क्रिकेट बैट से घुटने आदि पर वार किए। आरोप है कि इस दौरान विधायक ने अपना पैर एईएन के मुंह पर रख दिया। पीछे से एक व्यक्ति ने दाड़ी खींची। एईएन ने बताया कि इसके बाद जातिसूचक अपशब्द कहते हुए विधायक व उनके समर्थक चले गए।
15 मार्च से मिल रही थी धमकी

घायल एईएन ने एफआईआर में बताया कि उसे 15 मार्च से ही लगातार धमकियां मिल रही थीं। बता दें, जिले में इन दिनों विद्युत निगम का रिकवरी अभियान चल रहा है। इसके तहत बकायादारों के ट्रांसफार्मर हटाए जा रहे हैं।
विधायक बोले- सभी आरोप निराधार
इस बीच, विधायक मलिंगा ने कहा कि विद्युत निगम के अधिकारियों ने क्षेत्र में भ्रष्टाचार फैला रखा है। मेरे खिलाफ एफआईआर की जांच होगी तो सब सामने आएगा। पहले ये कह रहे थे कि अज्ञात लोग थे, अब अचानक पहचान कैसे हो गई। मैंने कुछ समय पहले इस अधिकारी को हटाने के लिए सरकार को कहा था। इसलिए मामले में मेरा नाम घसीटा जा रहा है।
सीओ और थानाप्रभारी निलंबित
पुलिस महानिदेशक एम.एल. लाठर ने मंगलवार को आदेश जारी कर बाड़ी के वृत्ताधिकारी बाबूलाल मीणा एवं बाड़ी थाना प्रभारी विजय सिुंह को निलंबित किया है। दोनों अधिकारियों के निलंबन आदेश में विभागीय जांच प्रस्तावित होना लिखा गया है। निलंबन अवधि में दोनों निलंबित अधिकारियों का मुख्यालय पुलिस महानिदेशक कार्यालय जयपुर रहेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्डकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मMenstrual Hygiene Day 2022: दुनिया के वो देश जिन्होंने पेड पीरियड लीव को दी मंजूरी'साउथ फिल्मों ने मुझे बुरी हिंदी फिल्मों से बचाया' ये क्या बोल गए सोनू सूद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.