वाह री पुलिस....दिव्यांग पीडि़त को ही सौंपी आरोपी पकडऩे की जिम्मेदारी

राजाखेड़ा. अगर आप थाने पर किसी वारदात का मामला दर्ज कराने जा रहे है, तो सावधान हो जाएं, क्योंकि आरोपियों को पकडऩे और उन्हें चिन्हित करने की जिम्मेदारी भी आपको ही उठानी पड़ सकती है। ऐसा ही मामला सामने आया है, राजाखेड़ा में दिव्यांग सर्राफा व्यापारी से लूट के प्रयास के मामले में। पौने दो महीने बाद सरेराह हुई वारदात का पुलिस कोई भी

By: Naresh

Published: 26 Dec 2020, 03:00 PM IST

वाह री पुलिस....दिव्यांग पीडि़त को ही सौंपी आरोपी पकडऩे की जिम्मेदारी
-आरोपियों का सुराग ढूंढ रहा लूट के प्रयास का पीडि़त दिव्यांग सर्राफा व्यापारी
-पौने दो माह में पुलिस नहीं लगा पाई सुराग
राजाखेड़ा. अगर आप थाने पर किसी वारदात का मामला दर्ज कराने जा रहे है, तो सावधान हो जाएं, क्योंकि आरोपियों को पकडऩे और उन्हें चिन्हित करने की जिम्मेदारी भी आपको ही उठानी पड़ सकती है। ऐसा ही मामला सामने आया है, राजाखेड़ा में दिव्यांग सर्राफा व्यापारी से लूट के प्रयास के मामले में। पौने दो महीने बाद सरेराह हुई वारदात का पुलिस कोई भी आरोपी चिन्हित नहीं कर सकी है, ऐसे में पुलिस ने पीडि़त को आरोपियों को चिन्हित करने की जिम्मेदारी देकर अपना पल्ला झांड लिया है। ऐसे में पुलिस की कार्यशैली पर कई सवाल खड़े हो गए है।
उल्लेखनीय है कि गत 6 नवम्बर को मुख्य बाजार के गंज चौराहे पर सर्राफा की दुकान करने वाला दिव्यांग व्यवसायी जयसिंह शाम साढे पांच बजे के लगभग अपनी दुकान बंद करके दुकान के आभूषणों का थैला लेकर अपने घर जा रहा था । मुख्य बाजार से हाट मैदान के रास्ते में उन्हें दो युवकों ने उसे घेर लिया और तमंचे तानकर आभूषणों का थैला छीनने की कोशिश की ।लेकिन दिव्यांग जयसिंग बदमाशों से भिड़ गए, हमलावरों ने उन पर तमंचों के बटों से हमला कर गंभीर घायल कर दिया। लेकिन आभूषणों का थैला एक हाथ से ही पकड़ा रखा, लोगों की भीड़ को आता देख आरोपी मौके से फायरिंग करते हुए भाग निकले।

घटना सीसीटीवी कैमरे मेें भी कैद
दिव्यांग सर्राफा व्यापारी से हुई वारदात यहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। इस दौरान हमलावर बदमाशों का यहां मौके पर पैदल ही आना और मुख्य बाजार के पास रेंकी करना, घटना को अंजाम देकर सुरक्षित फरार भी हो गए । ऐसे में पुलिस की सतर्कता और घटना के बाद रिस्पांस टाइम की कलई भी खुल गई।
पीडि़त को टालती रही पुलिस
घटना के बाद स्थानीय व्यापारियों में रोष फैल गया और नाराजगी में एक दिन बाजार बंद भी रहा ।तब भी पुलिस पीडि़त को टहलाती रही। इस दौरान पीडि़त को कुछ दिन रूक जाओ चुनाव है, समय नहीं मिल पा रहा, चुनाव बाद जब पीडि़त फिर थाने पहुंचा तो दिसंबर माह में जांच का कार्य अधिक बता कर टहला दिया और उसे आरोपियों को जनवरी में ढूंढ लेने का आश्वासन दिया। इस दौरान पुलिस ने पीडि़त यह तक कह डाला कि आरोपियों को पकडऩे में तुम भी प्रयास करो, अगर किसी की पहचान लो तो हम पकडऩे में तुम्हारी मदद कर देंगे।

खुद ही तलाश में जुटा पीडि़त
-पुलिस से मिली निराशा के बाद पीडि़त जयसिंह खुद ही आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। इस दौरान अखबारों में किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी होने पर थानों के चक्कर लगा रहा है कि शायद कोई आरोपी मिल जाए, तो पुलिस के सहयोग से उनको यहां तक ला सके । अब ऐसे में सवाल उठ रहा है कि अगर फरियादी ही आरोपियों को तलाश कर लेंगे तो पुलिस की जरूरत ही कहां है । पीडि़त ने बताया कि उसने उत्तर प्रदेश के कई थानों में संपर्क किया है, सीसीटीवी फुटेज में आए हाल हुलिए के कुछ लोगों की शक्ल उत्तरप्रदेश के फिरोजाबाद में पकड़े गए डकैत गिरोह से काफी मिल रही है । हमने वहां जाकर पता भी किया, अगर पुलिस का सहयोग मिले तो वारदात का खुलासा हो सकता है।

इनका कहना
आरोपियों की पहचान के प्रयास जारी है ।सीसीटीवी से मिले फोटोज को आसपास के थानों में पहचान के लिए भेजा गया है । जिससे उनकी पहचान हो सके ।
"दशरथ सिंह, जांच अधिकारी थाना राजाखेड़ा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned