बांधों को लबालब होने के लिए जोरदार बारिश का इंतजार

बाड़ी. मानसूनी बारिश पर निर्भर रहने वाले धौलपुर जिले के किसान अब कम बारिश को लेकर चिंतित होने लगे हैं। चौमासे का तीसरा माह बीतने को है, लेकिन बादल हैं कि जमकर बरस ही नहीं रहे हैं। अब तक पूरे जिले में बारिश औसत से कम मात्रा में ही हुई है। ऐसे में जिले के विभिन्न बांधों में आधे के करीब ही पानी आया है।

By: Naresh

Published: 25 Aug 2020, 11:52 AM IST

बांधों को लबालब होने के लिए जोरदार बारिश का इंतजार
बाड़ी. मानसूनी बारिश पर निर्भर रहने वाले धौलपुर जिले के किसान अब कम बारिश को लेकर चिंतित होने लगे हैं। चौमासे का तीसरा माह बीतने को है, लेकिन बादल हैं कि जमकर बरस ही नहीं रहे हैं। अब तक पूरे जिले में बारिश औसत से कम मात्रा में ही हुई है। ऐसे में जिले के विभिन्न बांधों में आधे के करीब ही पानी आया है। साथ में प्रदेश के सबसे बड़े कच्ची पार का पार्वती बांध भी अपने लबालब होने का इंतजार कर रहा है। अगर हर वर्ष की भांति बारिश समय पर पड़ती तो जिले के यह सभी बांध छलक रहे होते। पार्वती के गेट खुलने से पार्वती नदी और बामनी जैसी नदी बरसाती नदियों भी बह निकलती। अभी यह दोनों नदियां सूखी पड़ी है।
धौलपुर जल संसाधन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले के विभिन्न बांधों में अभी पानी ज्यादा नहीं आया है। ऐसे में यह बांध आधे ही भरे है। इन बांधों को अभी जोरदार बारिश का इंतजार है। जानकारी के अनुसार जिले के सबसे बड़े पार्वती बांध में पानी की आवक करौली जिले से होती है। साथ में जिले के सरमथुरा क्षेत्र की नदियां भी इसमें आकर मिलती हैं। इस बांध में अभी इसकी क्षमता 223.41 मीटर से 220.70 मीटर पानी आया है। अभी इस बांध को भरने के लिए करीब ढाई मीटर से अधिक पानी चाहिए।
इसी प्रकार बाड़ी के रामसागर बांध में जिसकी क्षमता 25.1 फीट है में 14.70 फीट पानी आया है। उर्मिला सागर में 28.5 फीट की एवज में 19.90 फीट, हुसैनपुर बांध में 9.5 फीट की क्षमता में 4.20 फीट आरटी बांध में 6.25 फीट की क्षमता में 3.70 फीट और उमरेह बांध में 9.5 फीट की तुलना में करीब पांच फीट पानी आया है। ऐसे में बारिश के बाकी बचे समय में जोरदार बारिश की जरूरत है। अभी जिले भर में केवल रिमझिम बारिश हो रही है। बादल आसमान में डेरा तो जमाए हैं लेकिन बरस नहीं रहे।
अब तक हुई है बसेड़ी क्षेत्र में सबसे अधिक बारिश
3 माह के चौमासे में अब तक जिले में सबसे अधिक बारिश बसेड़ी क्षेत्र में रिकॉर्ड की गई है। सिंचाई विभाग के आकड़ों के अनुसार बसेड़ी क्षेत्र में अब तक 428 एमएम बारिश हुई है। वहीं बाड़ी में 278, आंगई में 332, सैपऊ में 317, तालाब शाही पर 287, राजाखेड़ा में 251 और धौलपुर में 248 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है। सोमवार को जिले में नाम मात्र की बारिश हुई है, जो 4 से 6 एमएम में दर्ज की गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned