scriptWater did not come due to poor construction, layers of disturbances op | घटिया निर्माण के चलते नहीं आया पानी, जल जीवन मिशन योजना में खुल रही गड़बडिय़ों की परतें | Patrika News

घटिया निर्माण के चलते नहीं आया पानी, जल जीवन मिशन योजना में खुल रही गड़बडिय़ों की परतें

राजाखेड़ा. स्कूली विद्यार्थियों के लिए शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए आरम्भ की गई केंद्र सरकार प्रवर्तित जल जीवन मिशन परियोजना के प्रथम चरण में ही गड़बड़झालों का मामला अब परत दर परत खुलता जा रहा है। इन मामलों में ग्राम पंचायतों से लेकर उच्चाधिकारियों की कथित मिलीभगत भी खुलकर सामने आने लगी है।

धौलपुर

Published: February 17, 2022 02:45:51 pm

घटिया निर्माण के चलते नहीं आया पानी, जल जीवन मिशन योजना में खुल रही गड़बडिय़ों की परतें

राजाखेड़ा. स्कूली विद्यार्थियों के लिए शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए आरम्भ की गई केंद्र सरकार प्रवर्तित जल जीवन मिशन परियोजना के प्रथम चरण में ही गड़बड़झालों का मामला अब परत दर परत खुलता जा रहा है। इन मामलों में ग्राम पंचायतों से लेकर उच्चाधिकारियों की कथित मिलीभगत भी खुलकर सामने आने लगी है। जिसकी अगर गहन जांच की जाए तो मामले में एक बड़े गठजोड़ का खुलासा हो सकता है। क्या है योजना जल जीवन मिशन के प्रथम चरण के तहत उपखंड के 156 विद्यालयों में एक नई बोरिंग करके विद्यालय में नल फिटिंग की जानी थी, साथ ही इसे पानी की टंकी से जोड़ा जाना था। जिससे विद्यार्थियों को शुद्ध पेयजल मिल सके। इसके लिए प्रत्येक विद्यालय के लिए 55000 और कुछ विद्यालयों में डेढ़ लाख का बजट जारी कर ग्राम पंचायत को कार्यकारी एजेंसी बनाकर कार्य किया जाना था, लेकिन अधिकांश विद्यालयों में इस योजना के तहत गड़बड़झाले की खबरें आ रही हैं। स्वयं विद्यालय प्रबंधन इस योजना के कार्यों से संतुष्ट नहीं है। इसके तहत हुए गड़बड़झाले से खासे नाराज हैं, क्योंकि आने वाली गर्मी में इस योजना का फायदा मिलता नजर नहीं आ रहा है। जिससे विद्यार्थियों को बड़ी राशि खर्च करने के बाद भी पेयजल के लिए परेशान ही होना पड़ेगा।क्या हैं हालात एक सप्ताह पूर्व देवखेड़ा ग्राम पंचायत के बाबरपुर गांव के विद्यालय में योजना की पूर्णता की सूचना जिला प्रशासन को दे दी गई थी, जबकि विद्यालय में इस योजना में कोई कार्य हुआ ही नही था, न ही ग्राम पंचायत ने कोई राशि खर्च की थी। वास्तविकता में विद्यालय को भामाशाहों द्वारा पानी की टंकी उप्लब्ध कराई गई थी। जिसे ग्रामीण स्वयं पानी से भरते थे। जिससे गांव के बच्चे पानी के लिए परेशान न हों। दस्तावेज ग्रामीणों के हाथ लगने के बाद खासा हंगामा हुआ था। ग्रामीणों ने उच्च स्तरीय जांच की मांग की थी। अब इसी ग्राम पंचायत के राजकीय विद्यालय हरिबल्लभ का पुरा ने अवगत कराया है कि उनके विद्यालय में नल फिटिंग तो की ही नहीं गई है और पुराने हैंडपम्प का सामान भी कार्यकारी एजेंसी ले गई है। पानी न मिलने से छात्र-छात्राएं परेशान हैं, जबकि रिकॉर्ड में यहां भी कार्य पूर्ण हो चुका है। राजकीय विद्यालय नदोरा से मिली जानकारी के अनुसार योजना के तहत डाली गई पंप कुछ ही दिन काम कर पाई और तुरंत ही खराब हो गई। जिससे कई माह से हालात जस के तस हैं। राजकीय विद्यालय पहाडिय़ों के घेर ने भी अवगत कराया कि इनके यहां भी कार्य पूरा नहीं किया गया है, जबकि रेकॉर्ड में काम पूरा दिख रहा है। इन हालात में योजना की वास्तविक हालात स्वत: ही सामने आ रही है।घर बैठे ही निरीक्षणइन हालात में स्पष्ट हो रहा है कि पंचायत समिति और जिला परिषद के अधिकारी क्षेत्र में जाते ही नहीं है, वरन ग्राम पंचायत द्वारा किए जा रहे कार्यों को घर बैठे ही बिना चेक किए गुणवत्ता जांचें स्वीकृत कर रहे हैं, जो एक गंभीर मामला तो है ही। ग्राम विकास में गड़बडिय़ों को भी प्रात्साहित कर रहा है।इनका कहना है योजना के तहत निर्माण अधूरा है। जिसका कोई लाभ नहीं मिल रहा।शिवराम, प्रधानाध्यापक राजकीय प्राथमिक विद्यालय, पहाडिय़ों का घेर इनका कहना है जो पंप डाला गया, वो कुछ ही दिन चल पाया। भीषण पेयजल किल्लत से जूझ रहे हैं।नारायण सिंह, प्रधानाध्यापक राजकीय विद्यालय नदोरा हमारे विद्यालय में कार्य अधूरा पड़ा है। पुराने हैंडपम्प का सामान सरपंच प्रतिनिधि अपने घर ले गए।कन्हैया लाल, प्रधानाध्यापक राजकीय विद्यालय हरिबल्लभ का पुरा सूचीवार जांच कर रिपोर्ट बनाई जा रही है। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।राकेश सिंघल, विकास अधिकारी राजाखेड़ा राजाखेड़ा. विद्यालयों में बिना फिटिंग के बंद पड़े बोरवेल, जो रिकॉर्ड में कार्य पूर्ण बताए जा रहे हैं।
Water did not come due to poor construction, layers of disturbances opening in Jal Jeevan Mission plan
घटिया निर्माण के चलते नहीं आया पानी, जल जीवन मिशन योजना में खुल रही गड़बडिय़ों की परतें

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

नोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाDelhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.