scriptWater is more precious than life, here for a few drops, it has to be k | जीवन से ज्यादा कीमती पानी, यहां चंद बूंदों के लिए हथेली पर रखनी पड़ती है जान...देखें वीडियो | Patrika News

जीवन से ज्यादा कीमती पानी, यहां चंद बूंदों के लिए हथेली पर रखनी पड़ती है जान...देखें वीडियो

- सेना के फायरिंग रेंज में बने जलस्रोत ‘झिन्ना’ से पानी लाने की मजबूरी

- इन दिनों चल रहा है फायरिंग अभ्यास, सेना ने लगा रखा है चेतावनी बोर्ड

- झल्लूकाझोर व आसपास के पुरा-पट्टों का दर्द

धौलपुर. एक्वा डी क्रिस्टालो ट्रिब्यूटो अ मोडिग्लिआनी को दुनिया का सबसे महंगा पानी माना जाता है। इस पानी की 750 मिली लीटर की बोतल की कीमत करीब 44 लाख रुपए है। दुनिया के चंद खरबपति इस पानी को पीते हैं,

धौलपुर

Published: April 25, 2022 07:08:44 pm

जीवन से ज्यादा कीमती पानी, यहां चंद बूंदों के लिए हथेली पर रखनी पड़ती है जान...देखें वीडियो

- सेना के फायरिंग रेंज में बने जलस्रोत ‘झिन्ना’ से पानी लाने की मजबूरी

- इन दिनों चल रहा है फायरिंग अभ्यास, सेना ने लगा रखा है चेतावनी बोर्ड
Water is more precious than life, here for a few drops, it has to be kept on the palm, life...watch video
जीवन से ज्यादा कीमती पानी, यहां चंद बूंदों के लिए हथेली पर रखनी पड़ती है जान...देखें वीडियो
- झल्लूकाझोर व आसपास के पुरा-पट्टों का दर्द

धौलपुर. एक्वा डी क्रिस्टालो ट्रिब्यूटो अ मोडिग्लिआनी को दुनिया का सबसे महंगा पानी माना जाता है। इस पानी की 750 मिली लीटर की बोतल की कीमत करीब 44 लाख रुपए है। दुनिया के चंद खरबपति इस पानी को पीते हैं, लेकिन, सरमथुरा के डांग क्षेत्र में बसे लोग इससे भी महंगा पानी पीने को मजबूर हैं। दरअसल, डांग के इन बाशिंदों के लिए पानी की कीमत जीवन से भी अधिक है। यहां बसे लोगों को चंद बंूदों के लिए अपनी जान हथेली पर रखनी पड़ती है। झल्लूकाझोर क्षेत्र में पानी की किल्लत के कारण यहां के बाशिंदों को मजबूरी में सेना के फायरिंग रेंज में बने जलस्रोतों से चोरी-छिपे पानी लाना पड़ता है।फायरिंग रेंज में है ‘झिन्ना’गर्मी शुरू होते ही डांग की पथरीली भूमि पर जलस्रोतों से पानी सूखने लग जाता है। यहां-वहां चंद जलस्रोतों के सहारे ही डांग के बाशिंदों को प्यास बुझानी होती है। हमेशा पानी देने वाले जलस्रोतों को स्थानीय भाषा में ‘झिन्ना’ कहा जाता है। डांग के झल्लूकाझोर और उसके आसपास बसे पुरा-पट्टों का झिन्ना सेना की फायरिंग रेंज में आता है। ऐसे में ग्रामीण सेना की फायरिंग रेंज से पानी लाकर पीने को मजबूर हैं। अनदेखी करते हैं चेतावनीसेना की ओर से फायरिंग रेंज के आसपास चेतावनी के नोटिस भी चस्पा कर रखे हैं। इनमें साफ लिखा है कि 14 से 30 अप्रेल तक सेना की तोप की फायरिंग है। सेना ने लोगों से अपील की है कि वे रेंज की ओर न जाएं और न ही पशुओं को जाने दें। ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। सेना की ओर से गांव में भी लोगों को सावचेत करने के लिए दो आदमी लगा रखे हैं। इस सब के बावजूद झल्लूकाझोर और आसपास के ग्रामीण जान की परवाह किए बिना झिन्ना से पानी लाने रेंज में आते-जाते रहते हैं।इन दिनों चल रहा फायरिंग अभ्यासरेंज में इन दिनों फायरिंग का अभ्यास जारी है। दूर से ही धमाकों की गूंज सुनाई देती है। इसके बावजूद पानी की किल्लत झेल रहे लोग रेंज में जाने को मजबूर हैं। असापास कहीं और साफ पानी का स्रोत नहीं होने से ग्रामीणों को जान की परवाह नहीं करते हुए फायरिंग रेंज में जाने को मजबूर होना पड़ता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

जम्मू कश्मीरः बारामूला में जैश-ए-मोहम्मद के तीन पाकिस्तानी आतंकी ढेर, एक पुलिसकर्मी शहीदDelhi News Live Updates: दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में मिली महिला की सड़ी हुई लाश, जांच में जुटी पुलिससुप्रीम कोर्ट में पूजा स्थल कानून के खिलाफ दायर की गई याचिका, संवैधानिक वैधता को चुनौतीTexas Shooting: अमरीकी राष्ट्रपति ने टेक्सास फायरिंग की घटना को बताया नरसंहार, बोले- दर्द को एक्शन में बदलने का वक्तजातीय जनगणना सहित कई मुद्दों को लेकर आज भारत बंद, जानिए कहां रहेगा इसका ज्यादा असरमहंगाई से जंग: रिकॉर्ड निर्यात से घबराई सरकार, गेहूं के बाद अब 1 जून से चीनी निर्यात भी प्रतिबंधितआंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलरिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.