राजस्थान में खतरे के निशान से ऊपर चंबल नदी, प्रशासन ने बंद किया नावों का संचालन, जारी किया रेड अलर्ट!

राजस्थान में खतरे के निशान से ऊपर चंबल नदी, प्रशासन ने बंद किया नावों का संचालन, जारी किया रेड अलर्ट!

Nidhi Mishra | Publish: Aug, 16 2019 10:30:19 AM (IST) Dholpur, Dholpur, Rajasthan, India

हाड़ौती क्षेत्र ( hadoti area ) में लगातार बारिश हो रही है। इससे कोटा बैराज ( Kota Barrage Dam ) के गेट खोल दिए गए हैं। पानी की निकासी जारी है। इसी बीच चंबल ( River Chambal ) अब खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। प्रशासन ने इलाके में अलर्ट जारी कर दिया है।

धौलपुर। हाड़ौती क्षेत्र ( hadoti area ) में लगातार बारिश के कारण कोटा बैराज ( Kota Barrage Dam ) के गेट खोलने के बाद धौलपुर से निकल रही चम्बल नदी ( River Chambal ) अब पूरे उफान पर है। चंबल अब खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। चंबल का गेज फिलहाल 130.50 मीटर है। वहीं 129.79 पर खतरे का निशान है। यानी अब इलाके में खतरा है, जिसे लेकर प्रशासन ने अलर्ट ( Heavy Rain Alert in Dholpur ) जारी किया है।

 

 

 

Water Level Of River Chambal Above Danger Mark In Dholpur

गौरतलब है कि चंबल का गेज रविवार शाम को 128.20 मीटर पर पहुंच गया था, जो इस सीजन का सबसे अधिक स्तर था। क्योंकि खतरे का निशान ( danger Mark ) 129.70 पर है। वहीं शनिवार को नदी का गेज 126.20 मीटर पर था। इसके चलते प्रशासन ने नदी के समीपवर्ती निचले इलाकों में पटवारियों को भेजकर अलर्ट जारी करवा दिया था।

Water Level Of River Chambal Above Danger Mark In Dholpur

सिंचाई विभाग के अधिकारी भी लगातार मॉनिटरिंग पर थे। अधिकारियों ने रविवार को कई गांवों का दौरा भी किया था। साथ ही ग्रामीणों को नदी के आसपास नहीं जाने के लिए ताकीद किया था। सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता सुरेश मीणा ने बताया कि चम्बल का गेज रविवार शाम को 128.20 पर पहुंच गया। गांवों में अलर्ट जारी है। स्थिति पर पूरी निगाह रखे हुए हैं। इधर, जिला कलक्टर नेहा गिरी के आदेश पर प्रशासन ने जिले के तीन तरफ से निकल रही चम्बल नदी क्षेत्र में चल रही नावों के संचालन पर भी रोक लगा दी थी। उल्लेखनीय है कि चम्बल नदी का बहाव बढऩे के साथ निचले इलाकों के गांवों में पानी घुसने लगता है। चंबल के खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण अब ऐसी स्थितियां उत्पन्न हो गईं हैं। गत बार भी चम्बल नदी का गेज 131 मीटर तक पहुंच गया था, लेकिन कोई अनहोनी नहीं हुई थी।

 

उधर, कोटा, भीलवाड़ा व झालावाड़ में भारी बारिश व बाढ़ के हालात के चलते जिला कलक्टर ने सभी सरकारी व निजी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है। कैथून में तो बाढ़ से हालात और भी ज्यादा खराब हैं। यहां घरों में 4 से 5 फीट पानी भर गया है। हालातों को देखते हुए जिला कलक्टर ने सेना से मदद मांगी है। एनडीआरएफ ( NDRF ) की टीम राहत कार्य में जुटी हुई है। मौसम विभाग ( IMD ) ने यहां भारी से भी बारिश का रेड अलर्ट ( Red Alert in Rajasthan ) जारी किया है। कोटा ( Heavy Rain in Kota ) में 24 घंटे में 6 इंच बारिश दर्ज की गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned