scriptWeak third eye in the city, not only high resolution cameras, how to k | शहर में कमजोर तीसरी आंख, हाई रेजोलेशन कैमरे ही नहीं, ऐसे कैसे रखें नजर | Patrika News

शहर में कमजोर तीसरी आंख, हाई रेजोलेशन कैमरे ही नहीं, ऐसे कैसे रखें नजर

- घटनाओं के बाद अक्सर रह जाते हैं हाथ मलते

- शहर के आधे स्थानों पर नहीं लग पाए हैं कैमरे- 396 स्थानों पर लगने हैं, 133 स्थानों पर ही लगे

धौलपुर. शहर में आपराधिक गतिविधियों पर नजर रखने के लिए बनाए गए अभय कमाण्ड सेंटर का अभी आधे शहर पर भी कमाण्ड स्थापित नहीं हो पाया है। शहर में अभी तक आधे से भी कम सीसीटीवी कैमरे स्थापित कर पाए हैं।

धौलपुर

Updated: April 21, 2022 06:43:03 pm

शहर में कमजोर तीसरी आंख, हाई रेजोलेशन कैमरे ही नहीं, ऐसे कैसे रखें नजर

- घटनाओं के बाद अक्सर रह जाते हैं हाथ मलते

- शहर के आधे स्थानों पर नहीं लग पाए हैं कैमरे- 396 स्थानों पर लगने हैं, 133 स्थानों पर ही लगे
Weak third eye in the city, not only high resolution cameras, how to keep an eye like this
शहर में कमजोर तीसरी आंख, हाई रेजोलेशन कैमरे ही नहीं, ऐसे कैसे रखें नजर
धौलपुर. शहर में आपराधिक गतिविधियों पर नजर रखने के लिए बनाए गए अभय कमाण्ड सेंटर का अभी आधे शहर पर भी कमाण्ड स्थापित नहीं हो पाया है। शहर में अभी तक आधे से भी कम सीसीटीवी कैमरे स्थापित कर पाए हैं। ये कैमरे भी शहर के एक भाग तथा कुछ सरकारी कार्यालयों को ही कवर कर रहे हैं। इससे शहर के अन्य भागों में तो होने वाली आपराधिक गतिविधियों का पता लगाना ही संभव नहीं है। ऐसे में निजी तौर पर लगे हुए सीसीटीवी कैमरों के भरोसे ही पुलिस रहती है, लेकिन जब बड़ी वारदात हो जाती है तो वे भी कैमरे भी बंद मिलते हैं। ऐसे में आपराधिक गतिविधियों के सबूत नहीं जुट पाते हैं।यह है कारण राज्य सरकार ने आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने तथा नजर रखने के लिए जिला मुख्यालय पर ‘तीसरी आंख’ लगाने का निर्णय किया था। इसके मद्देनजर अगस्त 2018 में अभय कमाण्ड सेंटर की स्थापना भी कर दी। अभी तक शहर में 133 सीसीटीवी कैमरे ही ‘लाइव’ हैं। जबकि शहर में कैमरे लगाने का आंकड़ा 396 है। इनमें से फिजीबिलिटी 300 की बताई जा रही है।कछुआ चाल से चल रहा है फाइबर बिछाने का कार्य कैमरे नहीं लगने के पीछे शहर में फाइबर केबल बिछाने की कछुआ चाल है। जिस कम्पनी को ठेका दिया हुआ है। उसके कर्मचारियों की ओर से धीमी गति से कार्य किया जा रहा है। इसके चलते फाइबर का कार्य ही पूरा नहीं हो पा रहा है। उच्चाधिकारियों के दबाव के बाद कम्पनी ने पुराने कर्मचारियों को हटा दिया और नए कर्मचारियों को लगा दिया है, लेकिन फाइबर कार्य में देरी लगातार हो रही है। जब तक फाइबर नहीं बिछेगी, तब तक कनेक्टिविटी भी नहीं मिल पाएगी।गोदाम में रखे हैं कैमरे कम्पनी की ओर से शीघ्र ही फाइबर बिछाने का वादा करने के कारण कैमरे भी मंगा लिए गए, लेकिन अब बिना कनेक्टिविटी कैमरे नहीं लगाए जा सकते हैं। इसलिए सिर्फ पोल तो खड़े कर दिए गए हैं, लेकिन चोरी होने के भय से कैमरे नहीं लगाए जा सके हैं। इन प्रमुख स्थानों पर हैं जरूरतशहर के प्रमुख स्थानों पर अब तक कैमरे नहीं लग पाए हैं। इनमें गुलाब बाग चौराहा, जगदीश टॉकीज, कृषि उपज मण्डी, औंडेला मार्ग, लाल बाजार, पुराना डाकखाना चौराहा, जगन टॉकीज, हरदेव नगर चौराहा, गौरव पथ, पैलेस रोड, तोप तिराहा, गडरपुरा, जिरौली फाटक आदि स्थान शामिल हैं। जहां पर भीड़ भाड़ अधिक रहती है। साथ ही लूटपाट की वारदात की आशंका रहती है। गत माह मोदी तिराहे पर एक दुकान और स्टेशन रोड पर एक मेडिकल स्टोर से लूट की वारदात का कोई खुलासा नहीं हो सका है। इससे साफ पता लग रहा है कैमरे लगाने की सही प्रकार से योजना नहीं बनाई गई। ऐसे में कैमरे लगे होने के बावजूद पुलिस व आमजन को कोई लाभ नहीं मिल पा रहा है।इनका कहना हैफाइबर लाइन बिछाने का कार्य अधूरा होने के कारण कनेक्टिविटी नहीं मिल पा रही है। ऐसे में पोल पर कैमरे नहीं लगा सकते हैं। शहर में बस स्टैंड, कलक्टर निवास और सामान्य चिकित्सालय पर कैमरे लगाए गए हैं।- अरविंद शर्मा, नेटवर्किंग इंजीनियर, अभय कमाण्ड सेंटर, धौलपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीअब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : 21 मई को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर'मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा'- Virat Kohli ने रिटायरमेंट का संकेत देकर चौंकायाअकाली दल के दिग्गज नेता व पंजाब के पूर्व मंत्री तोता सिंह का निधन, सरपंच से पार्टी प्रेसिडेंट तक ऐसा था सफरभीषण सडक़ हादसा: पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, गैसकटर से काटकर निकाले गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.