Honey Benefits: ठंड में शहद खाने से होता है दोगुना फायदा, बीमारियां रहती हैं दूर

Honey Benefits: शहद को आयुर्वेद में त्रिदोषात्मक माना गया है जो वात, पित्त और कफ को दूर करता है। रोजाना शहद खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। शहद में जो मीठापन होता है वो मुख्यतः ग्लूकोज और एकलशर्करा फ्रक्टोज के कारण होता है। शहद का प्रयोग औषधि...

Honey Benefits in Hindi: शहद को आयुर्वेद में त्रिदोषात्मक माना गया है जो वात, पित्त और कफ को दूर करता है। रोजाना शहद खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। शहद में जो मीठापन होता है वो मुख्यतः ग्लूकोज और एकलशर्करा फ्रक्टोज के कारण होता है। शहद का प्रयोग औषधि रूप में भी होता है। शहद में ग्लूकोज व अन्य शर्कराएं तथा विटामिन, खनिज और अमीनो अम्ल भी होता है जिससे कई पौष्टिक तत्व मिलते हैं जो घाव को ठीक करने और उतकों के बढ़ने के उपचार में मदद करते हैं। प्राचीन काल से ही शहद को एक जीवाणु-रोधी के रूप में जाना जाता रहा है। जानते हैं इसके फायदों ( Honey Benefits ) के बारे में :-

- रोजाना एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से वजन कम होता है।
- छोटे बच्चों के लिए एक और बड़ों के लिए दो चम्मच शहद का रोजाना प्रयोग किया जा सकता है।
- बच्चों को रोजाना शहद देने से उन्हें खांसी की समस्या नहीं होती क्योंकि यह कफ दूर करता है।
- दिल की मजबूती के लिए शहद असरदार है। दिन में दो बार एक बड़ा चम्मच शहद खाने से लाभ होता है।
- एक कप पानी में बड़ा चम्मच शहद का मिला लें। इसे पीने से शारीरिक व मानसिक थकान दूर होती है।
- कमजोरी महसूस होने पर एक चम्मच शहद लेने से फौरन एनर्जी मिलेगी।
- जोड़ों के दर्द की शिकायत होने पर रात को सोने से पहले शहद से बनी चाय पीनी चाहिए।
- शहद में काफी मात्रा में माइक्रो न्यूट्रिएंट पाए जाते है, जो मधुमेह के पीड़ित लोगों के लिए काफी फायदेमंद माने गए हैं। नियमित रूप से इसका सेवन हाइपरग्लेसेमिया (उच्च रक्त शर्करा) को कम कर देता है । हाइपरग्लेसेमिया वो स्थिति होती है, जिसमें शरीर इंसुलिन बनाना बंद कर देता है। इस स्थित में शरीर में शर्करा की मात्रा बढ़ जाती है।

युवराज सिंह Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned