अल्सर, पीलिया, कब्ज और बवासीर में फायदेमंद है पपीता, एेसे करें सेवन

अल्सर, पीलिया, कब्ज और बवासीर में फायदेमंद है पपीता, एेसे करें सेवन

Vikas Gupta | Publish: Feb, 12 2019 12:36:57 PM (IST) | Updated: Feb, 12 2019 12:36:58 PM (IST) डाइट-फिटनेस

पपीते में पाए जाने वाले पपेन की मात्रा लगभग 20 प्रतिशत तक होती है जो हमारे शरीर में प्रोटीन को पचाता है।

पपीता एक संपूर्ण फल है। पके हुए पपीते में मौजूद कैरोटीन शरीर में विटामिन 'ए' बनाता है। इसमें विटामिन 'सी', कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन, प्रोटीन, कार्बोहाईड्रेट, टारटरिक व साइट्रिक एसिड जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

पपीते में पाए जाने वाले पपेन की मात्रा लगभग 20 प्रतिशत तक होती है जो हमारे शरीर में प्रोटीन को पचाता है।
टूथपेस्ट बनाने और त्वचा के दाग मिटाने की दवा बनाने में भी पपेन का उपयोग होता है।

पपीता पाचनक्रिया को दुरुस्त रखता है।
बवासीर और कब्ज जैसे पुराने रोगों में भी पपीता लाभकारी है।
कच्चा पपीता खाने से पीलिया रोग में आराम मिलता है।
पेट में कीड़े हो गए हों तो पपीते के दस बीज पानी में पीस लें। अब इसे एक चौथाई कप पानी में मिलाकर रोजाना सात दिनों तक लें।

पपीता अल्सर रोग में भी फायदेमंद होता है।
पके हुए पपीते के गूदे को उबटन की तरह चेहरे पर लगाएं। जब यह सूख जाए तो गुनगुने पानी से चेहरा धो लें। ऐसा कम से कम एक माह तक करने से चेहरे की झर्रियां दूर होती हैं और चमक बढ़ती है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned