सर्दियाें में खाएं बथुए का साग, लगेगी भूख, खून भी हाेगा साफ

ये छोटा-सा दिखने वाला हराभरा बथुआ काफी फायदेमंद है, सर्दियों में इसका सेवन कई बीमारियों को दूर रखने में मदद करता है।

By: युवराज सिंह

Published: 01 Nov 2018, 01:38 PM IST

औषधीय गुणों से भरपूर बथुआ एक ऐसी सब्जी है जिसके गुणों से ज्यादातर लोग अपरिचित हैं। ये छोटा-सा दिखने वाला हराभरा पौधा काफी फायदेमंद है, सर्दियों में इसका सेवन कई बीमारियों को दूर रखने में मदद करता है। बथुआ की पत्तियों में विटामिन ए की सर्वाधिक मात्रा पाई जाती है।इसमें में आयरन प्रचुर मात्रा में होता है, बथुआ न सिर्फ पाचनशक्ति बढ़ाता बल्कि अन्य कई बीमारियों से भी छुटकारा दिलाता है। आइए जानते हैं बथुए के फायदे : -

भूख बढ़ाता है : जिन लोगों को भूख नहीं लगती उन्हें बथुए की सब्जी खानी चाहिए।

पेट के कीड़े : बथुए के रस में नमक मिलाकर पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

कुपोषण : इसके नियमित सेवन से कुपोषण भी नहीं होता।

पेशाब में दिक्कत: बथुए के रस में मिश्री मिलाकर खाने से पेशाब की रूकावट दूर होती है।

रतौंधी : इसमें विटामिन ए बहुत होता है इसलिए यह आंखों और रतौंधी के लोगों को फायदा करता है।

कब्ज: बथुए का नियमित रूप से सेवन करने से कब्ज की शिकायत नहीं रहती।

टीबी: टीबी की खांसी में इसको बादाम के तेल में पकाकर खाने से लाभ होता है।

दिल मजबूत: लाल बथुआ हृदय को बल देने वाला, फोड़े-फुंसी, मिटाकर खून साफ करने में भी मददगार है।

पित्त प्रकोप: तिल्ली की बीमारी और पित्त के प्रकोप में इसका साग खाना उपयोगी है।

पीलिया में लाभः अरुचि, अर्जीण, भूख की कमी, कब्ज, लिवर की बीमारी पीलिया में इसका साग खाना बहुत लाभकारी है।

दुर्बलता: सामान्य दुर्बलता बुखार के बाद की अरुचि और कमजोरी में इसका साग खाना हितकारी है।

 

Show More
युवराज सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned