कैंसर जैसी घातक बीमारी परोसने का काम कर रही भाजपा

कैंसर जैसी घातक बीमारी परोसने का काम कर रही भाजपा

Shiv Mangal Singh | Publish: Sep, 04 2018 04:32:44 PM (IST) Dindori, Madhya Pradesh, India

कांग्रेस ने जूते चप्पलों के वितरण पर रोक लगाने की मांग

डिंडौरी। मध्यप्रदेश सरकार और म.प्र. लघु उद्योग संघ के द्वारा निर्धन तेंदुपत्ता संग्रहकों को सरकार की तरफ से पहनाए गए जूते-चप्पलों में खतरनाक एजेडओ नामक रसायन पाया गया है जो इन जूते-चप्पलों को उपयोग करने वाले व्यक्तियेां में घातक कैंसर जैसी बीमारी फैला सकता हैं। उक्ताशय की रिर्पोट केंद्रीय चर्म संस्थान की जांच में प्राप्त हुई हैं। इससे यह साबित होता है कि व्यापम घोटाले में दर्जनों लोगों की हत्यारी म.प्र. की भा.ज.पा. सरकार अब इन गरीब तेंदुपत्ता संग्रहकों जिनमें गरीब तेंदुपत्ता संग्राहकों जिनमें अधिकांश अनुसूचित जाति/जनजाति के सदस्य हैं, उन्हें कैंसर जैसी घातक बीमारी परोसने का काम कर रही है। उक्ताशय की बात जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष वीरेन्द्र बिहारी शुक्ला, डॉ नन्हे सिंह, चन्द्रमणी मिश्रा, रमेश राजपाल, दिनेश बर्मन भैयाजी, आलोक शर्मा, ब्रजेन्द्र दीक्षित, अविनाश गौतम, रजनीश राय, रीतेश जैन, अशोक छावड़ा, भीम अवधिया, भरत पाण्डे, अकील अहमद, शरद परिहार, राम वैश्य, आदि के द्वारा जिला कलेक्टर डिंडोरी को पत्र लिखकर की मांग। जिसमें कहा गया है कि वैज्ञानिक एंव औद्योगिक अनुसंधान संस्थान चैन्नई से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार इन जूते-चप्पलों के उपयोग करने वाले व्यक्तियों को कैंसर की बीमारी होने का गंभीर खतरा है। क्योंकि इन जूते-चप्पलों में कैंसर वाला रसायन जांच के दौरान पाया गया है। उल्लेखनीय है कि अब तक लगभग 10 लाख तेंदुपत्ता संग्राहकों को कैंसर के रसायन वाले जूते-चप्पल स्वयं मुख्यमंत्री और उनके सहयोगियों के द्वारा पहनाये जा चुके हैं और अभी इससे भी अधिक मजदूरों को जूते-चप्पल बांटे जाने शेष हैं। इस रिपोर्ट के सार्वजनिक होने पर जिला कांग्रेस कमेटी डिंडोरी अध्यक्ष वीरेन्द्र बिहारी शुक्ला एवं कांग्रेस नेताओं ने सभी संबंधितों से कहा है कि इन घातक रसायन वाले जूते-चप्पलों का उपयोग न करें और इन्हें नगर एंव गांव की आबादी से दूर निर्जन स्थानों पर गहरे गडढ़े में दफनाकर घातक बीमारी को रोकने में सहयोग करें। डिंडोरी जिले में 44 हजार 575 में से 23 हजार 425 हजार तेंदुपत्ता संग्राहकों को जूते चप्पल बांटे जाना शेष है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned