नर चीतल का किया शिकार, नौ आरोपी गिरफ्तार

शीतलपानी वनग्राम का मामला, वन विभाग ने की कार्रवाई

By: Rajkumar yadav

Published: 10 Apr 2019, 09:56 AM IST

बजाग/ डिंडोरी। चीतल का शिकार कर मांस को आपस में बांटकर भागने की फिराक में जुटे शिकारियों के गिरोह को मौके से ही गिरफ्तार करने में वन अमले को सफलता मिली है। सोमवार की देर शाम संरक्षित वन्य जीव प्राणी के शिकार की सूचना को गंभीरता से लेते हुए वन विभाग द्वारा घेराबंदी की गई। कार्रवाई के दौरान वन अमले ने चार बोरियों में भर कर रखे चीतल के मांस एवं खाल सहित शिकार में उपयोग की गई कुल्हाड़ी व बर्तनों को भी आरोपियों के कब्जे से बरामद कर लिया गया है। नर चीतल की आयु लगभग 4 वर्ष बताई गई है। आरोपियों के पास से बरामद चीतल मांस का वजन लगभग 40 किग्रा आंका गया है। सभी आरोपियों के विरूद्ध वन्य प्राणी (संरक्षण) अधिनियम 1972 के तहत कार्रवाई कर न्यायालय में पेश किया गया है। मामला बजाग परिक्षेत्र अंतर्गत कक्ष कमांक 526 शीतलपानी वनग्राम का है। जहां सोमवार शाम चीतल के शिकार एवं दावत की सूचना वन अमले को प्राप्त हुई थी। सूचना मिलते ही वनमंडालाधिकारी सामान्य वन मंडल मधु व्ही राज के मार्गदर्शन तथा उप वनमंडलाधिकारी गाड़ासरई डॉ. एल एस सिंह के नेतृत्व में वनपरिक्षेत्र अधिकारी विष्णु पटेल, उप वनपाल अजय मुकुद पोल, शिवकुमार टांडिया, वनरक्षक प्रताप मरकाम सहित एक दर्जन वन कर्मचारियों ने शिकारियों के ठिकाने भीतरीपानी गला किनारे दबिश देकर चीतल के मांस सहित कांशीराम गौड, पतिराम यादव, सोनसिंह यादव, सूरज सिंह मरावी, सोनसाय गौड, अहरू सिंह गौड़ हरिसिंह मरावी, महिपाल परस्ते और कुंवर सिंह बैगा को गिरफ्तार किया। आरोपियों के कब्जे से बरामद खाल के साबूत होने तथा चमड़े की सफाई को देखकर वन अधिकारियों ने इनके शातिर शिकारी होने की आशंका जताते हुए कड़ाई से पूछताछ शुरू कर दी है। जिसके आधार पर शक की सुई शीतलपानी क्षेत्र के एक विवादित व्यक्ति पर टिक गई है। सूत्रों के मुताबिक अगामी दिनों में एक अन्य पर भी कार्रवाई की जा सकती है। संदेह है कि जिस पर शंका है उसके इशारे पर क्षेत्र में संरक्षित वन्य प्राणियों के शिकार एवं तस्करी को अंजाम दिया जाता है। अवैध वन कटाई में शामिल इस संदेही के विरूद्ध प्रमाण जुटाने में वन अमला लगा हुआ है।
— वनग्राम शीतलपानी में अवैध वन गतिविधियों के मद्देनजर एलर्ट जारी किया गया था। सोमवार की शाम यहां चीतल के शिकार की सूचना प्राप्त हुई थी। मौके पर दबिश देकर नर चीतल के मांस सहित नौ आरोपी गिरफ्तार किये गये है। पूछताछ की जा रही है जिसमें गिरोह के मास्टरमाइंड का नाम सामने आने की संभावना है।
डॉ. एल एस सिंह उप वनमंडलाधिकारी सामान्य वनमंडल गाडासरई

Patrika
Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned