कलेक्टर ने जारी किया फरमान, प्रस्तुत करनी होगी रोजाना रिपोर्ट

होम आईसोलेट लोगों की अब शिक्षा विभाग के अधिकारी-कर्मचारी करेंगे निगरानी

By: ayazuddin siddiqui

Published: 03 May 2021, 11:26 PM IST

डिंडोरी. कलेक्टर रत्नाकर झा ने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमण की चेन तोडने और स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए 17 मई तक कोरोना कफ्र्यू लागू रहेगा। जिले में सभी प्रकार के सार्वजनिक कार्यक्रमों के आयोजनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं कर सकेगा। उन्होंने उक्त निर्देशों का कडाई से पालन करने को कहा है। उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध प्रकरण पंजीबद्ध कर कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर रत्नाकर झा ने उक्त निर्देश सोमवार को आयोजित बैठक में दिए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर मिनिषा भगवती पाण्डेय, एसडीएम महेश मण्डलोई, डिप्टी कलेक्टर रजनी वर्मा, सीएमएचओ डॉ रमेश मरावी, डीपीसी राघवेन्द्र मिश्रा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग मंजूलता सिंह, जिला परिवहन अधिकारी रमा दुबे सहित जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे। कलेक्टर ने होम आईसोलेट हुए व्यक्तियों पर निगरानी रखने के लिए बीईओ, बीआरसी और शिक्षकों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए हैं। शिक्षा विभाग के कर्मचारियों के द्वारा होम आईसोलेट व्यक्तियों पर निगरानी रखी जाएगी। जिससे कि होम आईसोलेट व्यक्ति बाहर भ्रमण न करें।
शिक्षा विभाग के कर्मचारियों को इस संबंध में रोजाना रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी। कलेक्टर ने होम आईसोलेट व्यक्तियों के घरों में माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए। जिससे कंटेनमेंट जोन की जानकारी सभी व्यक्तियों को हो सके और सावधानी बरती जा सके। उन्होंने जिला एवं जनपद स्तरीय दलों को होम आईसोलेट व्यक्तियों से उनके स्वास्थ्य और दवाईयों के सेवन के बारे में नियमित रूप से रिपोर्ट लेने के निदेश दिए हैं। कलेक्टर ने कोविड केयर सेंटरों का संचालन और देखभाल नियमित रूप से करने के निर्देश दिए हैं। भोजन की राशि सहित सभी खर्चो का नियमित रूप से भुगतान करने को कहा। उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटरों में साफ. सफाई, पानी की व्यवस्था, बिजली की व्यवस्था, फिनाइल, साबुन सहित सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होने चाहिए। जिले में ऑक्सीजन सिलेण्डर, दवाईयां और कोरोना किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। किसी भी व्यक्ति का स्वास्थ्य खराब होने पर तत्काल स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जाएगी।
कोविड केयर सेंटरों में भी पर्याप्त व्यवस्थाएं की गई है। जिससे कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों को किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो। कलेक्टर ने पानी के डिब्बों की होम डिलेवरी तथा घर-घर टिफिन पहुंचाने पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। अब पानी के डिब्बों की होम डिलेवरी और घर-घर टिफिन नहीं पहुंचाए जा सकेंगे। उक्त निर्देशों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर डोर-टू-डोर संपर्क किया जा रहा है। संपर्क के दौरान सर्दी खांसी एवं बुखार से पीडित व्यक्तियों की जांच कर दवाईयां दी जा रही है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण कार्य प्रारंभ है। इस अभियान में सभी व्यक्ति शामिल होकर टीका जरूर लगवाएं। यह टीका कोरोना संक्रमण की महामारी से बचाव के लिए जरूरी और पूर्णरूप से सुरक्षित है। लोगों को समझाइश दें कि घर में रहें, सुरक्षित रहें, बिना किसी वजह के घर से बाहर न निकलें। हमेशा मास्क पहनें, हाथों को सेनेट्राईज करें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। कोरोना संक्रमण की महामारी को रोकने के लिए गठित जनपद एवं ग्राम स्तरीय समितियों को गांव में बाहर से आने वाले व्यक्तियों की सूचना देने के निर्देश दिए हैं। जिससे उन व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा सके। उक्त समितियों को इस संबंध मे रोजाना रिपोर्ट देनी होगी।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned