सवालों के घेरे में जनपद मुख्यालय बजाग का सामुदायिक चिकित्सालय

नहीं है कोविड सेंटर, डिंडोरी जाने से डर रहे क्षेत्रवासी

By: ayazuddin siddiqui

Published: 11 May 2021, 07:04 PM IST

बजाग. जनपद मुख्यालय बजाग स्थित सामुदायिक चिकित्सालय इन दिनों सवालों के घेरे में है। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही और कार्यप्रणाली लगातार क्षेत्र वासियों के लिए चिंता का सबब बनते जा रही है। तहसील मुख्यालय और इसके आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार कोरोना वायरस के मरीज मिल रहे हैं। बजाग मुख्यालय पर कोविड केयर सेंटर का ना होना और डिंडोरी जाने से डरने के साथ विभागीय कर्मियों के द्वारा सही जानकारी ना दिए जाने के चलते लोग अस्पताल पहुंच कर इलाज कराने से बच रहे हैं।
ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोनावायरस गांव गांव में पहुंच चुका है और अब कोविड की जांच ना होने के चलते बिना जांच हुए बिना ही मौत के शिकार हो रहे हैं। गांवों में हर घर मे लोग बीमार हैं लेकिन डॉक्टर ना होने के कारण और डिंडोरी रेफर किये जाने के डर से ग्रामीण मेडिकल से दवाई लेकर इलाज कर रहे हैं लेकिन कोई अस्पताल जाने को तैयार नहीं है। पिछले दो दिनों में बिलाई खार में एक वृद्ध महिला और एक पुरुष काल के गाल में समा चके हैं। ग्रामीणों के अनुसार इनका पूरा परिवार बीमार है पर एक अदद डॉक्टर उपलब्ध नहीं है। लोग डर के कारण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बजाग में जाकर इलाज नहीं करा रहे हैं। जबकि विभाग की ग्राउंड स्तर की रिपोर्टर आशा कार्यकर्ताओं और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा कोई जानकारी एकत्रित नहीं की जा रही है। सही जानकारी ना मिलने और गांव गांव कोविड की जांच ना होने से अब और खतरा बढ गया है। क्षेत्रीय लोगों के अनुसार बजाग क्षेत्र में हर गांवों में कोरोना के मरीजों सैकड़ों की तादाद में है। एक ओर जहां विभाग के पास जांच करने पर्याप्त किट उपलब्ध नहीं है। वहीं दूसरी ओर वन ग्रामचांडा में 8 लोगों की एक साथ रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
बजाग हॉस्पिटल में बीएमओ के अलावा कोई डॉक्टर नहीं होना इस क्षेत्र के लोगों को खतरे में डाल रहा है। वह भी किसी मरीज का इलाज नहीं करते और उसे सीधे डिंडोरी रेफर किया जाता है। ग्रामीणों के मन मे यह डर घर कर गया है कि अस्पताल जाएंगे तो डिंडोरी भेज दिया जाएगा।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned