बड़े भाई ने दस रुपए के लिए की छोटे भाई की हत्या

बड़े भाई ने दस रुपए के लिए की छोटे भाई की हत्या
बड़े भाई ने दस रुपए के लिए की छोटे भाई की हत्या

Rajkumar Yadav | Publish: Sep, 16 2019 10:14:33 AM (IST) Dindori, Dindori, Madhya Pradesh, India

पत्थर से कुचलकर उतारा मौत के घाट, मामला थाना मेंहदवानी के ग्राम खैरदा का

मेंहदवानी. जिले के मेंहदवानी थानान्तर्गत ग्राम खैरदा में शनिवार की शाम दिल दहला देने वाली घटना घटित हुई। जिसमें बड़े भाई ने मात्र 10 रुपए के विवाद पर अपने सगे छोटे भाई को मौत के घाट उतार दिया। जानकारी के अनुसार खैरदा निवासी सहजु सिंह के दो बेटे थे। बड़ा बेटा देवसिंह 19 वर्ष जो खेती का काम करता था तथा छोटा बेटा राजेश कक्षा आठवीं की पढ़ाई कर रहा था। शनिवार को जब राजेश स्कूल जाने लगा तो पिता सहजू ने 10 रुपए निकालकर उसे दिये तो बड़ा बेटा देवसिंह भी पैसे मांगने लगा तो पिता ने कहा कि दिनभर यहां वहां फालतू घूमता है कुछ कमाता नहीं है और ऊपर से पैसे मांगता है कहकर पैसे नहीं दिये। इसी बात को लेकर आरोपी देवसिंह कहने लगा राजेश को तुम ज्यादा चाहते हो मुझे नहीं ऐसे में राजेश को मार दूंगा। सुबह तो बात यहीं खत्म हो गई पर देवसिंह के मन में कुछ और चल रहा था और जैसे ही शाम 5 बजे राजेश स्कूल से लौटकर घर आया और थोड़ी देर बाद बाहर घूमने निकल गया। आरोपी भी उसके पीछे पीछे चल दिया। जब रात्रि होने के बाद भी दोनों बेटे नहीं लौटे तो परिजन चिंतित होकर यहां वहां दोस्तो, रिश्तेदारों के यहां खोजबीन की फिर भी नहीं मिले। परिजन थक हारकर घर आ गये। सुबह पुन: ग्राम वासियों के साथ खेतों की तरफ ढूंढऩे गये जहां खेत की मेढ़ के नजदीक झाडिय़ों में राजेश का शव देखा गया। जिसकी जानकारी डायल 100 के माध्यम से पुलिस को दी। मौके में पहुंची पुलिस ने शव परीक्षण करा परिजनों को सौंप आरोपी देवसिंह को गिरफ्तार कर लिया है।
पैसे देने में भेदभाव को लेकर रंजिशन छोटे भाई के सिर मे ंपत्थर पटककर हत्या की गई है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। ।
विजय गोठरिया, थाना प्रभारी मेंहदवानी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned