अतिथि शिक्षकों ने भीख मांगकर किया विरोध

शासन द्वारा दिये जा रहे 25 प्रतिशत के आरक्षण से जुुड़ी प्रतिया जलाई

By: Rajkumar yadav

Published: 10 Feb 2018, 10:59 AM IST

शहपुरा. प्रदेश के समस्त अतिथि शिक्षक नियमितीकरण की मांग को लेकर प्रदेश अध्यक्ष शम्भूचरण के आहवाह पर प्रदेश भर में मध्यप्रदेश सरकार के विरोध में प्रदर्र्शन व हड़ताल कर रहे हैं। उसी के तहत शहपुरा विकासखण्ड मे भी अतिथि शिक्षक सघं के ब्लाक अध्यक्ष लवकेश बडगैया के नेतृत्व में लगभग 550से अधिक अतिथि शिक्षक शालाओं का बहिष्कार किया व भिक्षा मांगकर नगर पंचायत शहपुरा के सामने पण्डाल लगाकर गुरूवार के दिन शासन द्वारा दिये जा रहे 25 प्रतिशत आरक्षण से जुड़ी प्रति जलाई व भर्ती प्रक्रिया में 100प्रतिशत अतिथि शिक्षकों को नियमीकरण का लाभ प्रदान करने की मांग की। अतिथि शिक्षकों का कहना है कि उनका भी नियमितीकरण किया जाए। जिन अतिथि शिक्षकों का डीएड, बीएड नही है। राज्य सरकार उनका निशुल्क डीएड, बीएड कराते हुए नियमीकरण करे। वही मिल रही जानकारी अनुसार अतिथि शिक्षको की हडताल से विकासखण्ड षहपुरा मे स्थित प्राथमिक व माध्यमिक षालाओ मे पढाई का काम पूरी तरह ठप्प हो गया है।
गुरूवार के दिन अनिश्चतकालीन हड़ताल में लवकेश बडगैया, गणेश अग्रवाल, विजय साहू, अजय शर्मा, मालती, रामजी साहू, आजाद खान, मनोज रजक, माखन लाल झारिया, अमृत झारिया, अरूण झारिया,रविशंकर झारिया व दीपशिखा झारिया सहित बड़ी सख्या में अतिथि शिक्षक उपस्थित रहे। अतिथि शिक्षकों व्दारा नियमितीकरण की मांग को लेकर प्रदेश सरकार के विरूध्द किये जा रहे प्रर्दशन हड़ताल में अन्य संगठनो जिसमें रसोईया संघ, आंगनबाडी कार्यकर्ता संंघ, आशा कार्यकर्ता संघ का भी साथ मिल रहा है।
छात्रों से की अवैध वसूली की शिकायत
बजाग. शासकीय उत्कृष्ट एवं मॉडल विद्यालय में केंद्र प्रभारी द्वारा नवमी एवं ग्यारहवीं के छात्रों से अनुचित शुल्क वसूली के आरोप लगे हैं। विद्यार्थियों ने बताया कि शाला में अध्ययनरत विद्यार्थियों से शाला में अनुपस्थित रहने पर 100 रुपये का शुल्क केंद्र प्रभारी द्वारा वसूला गया है। विद्यार्थियों ने यह भी बताया कि यदि उनके द्वारा शुल्क भुगतान नहीं किया जायेगा तो उन्हे परीक्षा में अनुत्तीर्ण करने की भी बात कही जा रही है। इसके अलावा शाला में नियमित छात्र छात्राओं से भी राशि वसूलने का फरमान जारी किया गया है।
इस मामले में केंद्र प्रभारी और प्राचार्य का कहना है कि शुल्क नियमानुसार लिया जा रहा है। उत्कृष्ट एवं मॉडल स्कूल में 502 विद्यार्थी दर्ज हैं। जिनसे शुल्क वसूल किये जाने का आरोप है। वहीं इन दिनों दसवी और बारहवी का प्री बोर्ड एग्जाम और नवमी और ग्यारहवी की परीक्षायें संचालित हो रही हैं और यहां संचालित परीक्षाओं मे लापरवाही सामने आई है। 14 कमरों में उक्त कक्षाओं की परीक्षायें संचालित हैं, लेकिन मात्र 5 शिक्षक ही इन परीक्षाओं को संचालित कर रहे हैं। इसके पीछे कारण यह भी सामने आया कि इन दिनों अतिथि शिक्षक हड़ताल पर हैं।

Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned