रेत का अवैध परिवहन करते दो हाइवा जब्त, प्रशासन की कोशिशों के बाद भी नहीं थम रहा रेत का अवैध खनन

रेत का अवैध परिवहन करते दो हाइवा जब्त, प्रशासन की कोशिशों के बाद भी नहीं थम रहा रेत का अवैध खनन

Amaresh Singh | Updated: 06 Jun 2019, 02:40:04 PM (IST) Dindori, Dindori, Madhya Pradesh, India

जिले भर में नदियों का दोहन धड़ल्ले से किया जा रहा है

डिंडोरी/शहपुरा। रेत का उत्खनन व परिवहन कारोबारियों के लिए कमाई का जरिया बन गया है। जिसके लिए जिले भर में नदियों का दोहन धड़ल्ले से किया जा रहा है। वैध हो या अवैध खदाने सभी जगह से नियमों को ताक पर रखकर रेत उत्खनन व परिवहन का कारोबार कर कारोबारी मनमाने दाम पर बिक्री कर रहे हैं। जिस पर अंकुश लगाने में विभागीय अमला सफल नहीं हो पा रहा है।

यह भी पढ़ें-ई-टिकट दलाल के कब्जे से चौदह लाख से अधिक की कीमत के टिकट जब्त

ओवर लोड वाहनो के कारण सड़कें भी खराब हो रही है

कुछ ऐसी ही स्थिति जिले के शहपुरा क्षेत्र में भी है। यहांं चल रहे निर्माण कार्यो के लिए रेत व गिट्टी की पूर्ति के लिए रेत कारोबारी इस कदर हावी है कि प्रसाशन की लाख कोशिशो के बाद भी अवैध व ओवर लोड रेत परिवहन में लगाम नहीं लग पा रही है। जिसके कारण एक तरफ तो शासन को चूना लग रहा है और दूसरी तरफ ओव्हर लोड वाहनो के कारण सडके भी खराब हो रही है। अवैध रेत परिवहन और ओवर लोड की लगातार शिकायतों के बाद शहपुरा तहसीलदार एनएल वर्मा ने बडी कार्यवाही करते हुए दो ओव्हरलोड हाईवा को पकडा है ।

यह भी पढ़ें-मुआवजा नहीं मिला तो परिवार के सदस्य कर लेंगे आत्महत्या, भूखमरी से दो पुत्र कर चुके हैं खुदकुशी


बेखौफ है रेत कारोबारी
जिले की सीमा से लगे हुए जिला उमरिया ,शहडोल ,और कटनी के रेत माफिया शहपुरा व आसपास अपनी गहरी पैठ बना कर लगातार कई वर्षो से रेत का खेल खेल रहे है। खनिज विभाग की लापरवाही के कारण इनके हौसले अब इतने बुलंद है कि ये रेत का खेल रात को खेलते थे मगर अब दिन दहाड़े बिना कागज और ओव्हर लोड हाईवा भेज रहे हैं। कुछ इसी प्रकार का मामला आज देखने को मिला जब हाईवा क्रमंाक एम पी 20 एचबी 6199 और एम पी 20 एस बी 6609 को पकडा तो ड्राईवर गाडी छोडकर बीच रास्ते में व चाबी निकाल ,हाईवा खडे कर भाग निकले और उसमें बैठे क्लीनर के द्वारा किसी भी प्रकार के कागज प्रस्तुत नहीं किये गए। जिसके बाद किसी तरह से तहसीलदार एन एल वर्मा के द्वारा दोनो वाहनो को थाना तक पहुंचाया,और अग्रिम कार्यवाही के लिए खनिज विभाग डिंडोरी प्रकरण भेजा गया।

यह भी पढ़ें-भगीरथ बन धरती का आवरण बचा रहा माथनकर दंपती, घर आने वाले को भेंट करते हैं पौधा

रेत कारोबारियों पर कोई फर्क पड़ता नजर नहीं आ रहा है

हालांकि इस इक्का-दुक्का कार्रवाई से रेत कारोबारियों पर कोई फर्क पड़ता नजर नहीं आ रहा है। एक तरफ विभाग द्वारा कार्रवाई की जाती है दूसरे तरफ नदियों से रेत के अवैध उत्खनन व परिवहन का कारोबार जारी रहता है। किसी एक क्षेत्र में नहीं बल्कि समूचे जिले में कारोबारियों ने अपनी-अपनी पैठ जमा रखी है। जिसके दम पर इनके द्वारा बेखौफ होकर इस कारोबार को अंजाम दिया जा रहा है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned