शिक्षक के अभाव में बच्चों की लगती है मस्ती की पाठशाला

शिक्षक के इंतजार में रहते हैं बच्चे

By: Rajkumar yadav

Published: 14 Nov 2017, 11:42 AM IST

डिंडोरी। शैक्षणिक सत्र आधे से ज्यादा गुजरने को है लेकिन ग्रामीण ईलाकों मे शिक्षा व्यवस्था आज भी हासिये मे नजर आ रही है। नौनिहाल निर्धारित समय में स्कूल तो पहुंच रहे हैं लेकिन शिक्षक के नदारद रहने के चलते कुछ देर शाला परिसर मेे खेलने कूदने के बाद मध्यान्ह भोजन कर अपने घर वापस चले जाते है। पिछले तीन माह से अमरपुर विकासखंड अंतर्गत ग्राम मोहनझिर रैयत के नवीन प्राथमिक शाला के हाल है। इस शाला मे 21 विद्यार्थी दर्ज है लेकिन शिक्षक नहीं है। जानकारी के मुताबिक यहां पदस्थ शिक्षक पीएस परस्ते को कार्य मे लापरवाही और अनियमितता के चलते सितम्बर माह मे निलंबित कर दिया गया है। जब से विभाग द्वारा किसी शिक्षक की तैनाती नहीं की गई है, बतौर अतिथि शिक्षक के नाम पर गांव के ही एक युवक द्वारा बच्चों को पढ़ाने की बात सामने आई है। लेकिन वरिष्ठ अधिकारी अतिथि शिक्षक की नियुक्ति को लेकर ठोस जवाब नही दे पा रहे है। इस संबंध मे उक्त शाला मे औपचारिकता निभाने वाले युवक ने भी बच्चों को पढ़ाने के एवज मे शासन से किसी तरह का नियुक्ति पत्र या राशि मिलने की बात से इनकार किया है। वहीं 21 दर्ज संख्या वाले स्कूल मे शिक्षक के न होने के चलते उपस्थिति भी 10 से 12 रहती है। नियमत: 20 से कम दर्ज संख्या वाली शालाओं को बंद किये जाने के निर्देश है और उन छात्र छात्राओं को नजदीकी शालाओं मे भर्ती किया जाना है। लेकिन उक्त शाला मे औपचारिकता पूरी करने के लिये 21 विद्यार्थियों को दर्ज कर दिया गया है। अब सवाल यह उठता है कि क्या यहां दर्ज नौनिहालों के भविष्य की चिंता किसी को नहीं है। इस संबंध मे जिम्मेदार अधिकारी भी गोलमोल जवाब देते हुये बचते नजर आ रहे है। ऐसा नहीं कि मोहनझिर मे संचालित शाला के ही ऐसे हाल है बल्कि जिले मे दर्जनों ऐसी शालायें हैं। जो शिक्षक विहीन हैं और विकासखंड के जिम्मेदार अधिकारियों समेत जिले के आला अधिकारियों तक की इसकी जानकारी है। बावजूद इसके किसी को अध्ययनरत छात्रों के भविश्य की चिंता नहीं पूर्व मे अतिशेष शिक्षकों का भले ही शिक्षक विहीन शालाओं मे स्थानांतरण कर दिया गया हो लेकिन अभी भी ऐसे अनेकों स्कूल हैं जहां शिक्षकों का टोटा बना हुआ है और छात्र छात्रों को उचित शिक्षा नहीं मिल पा रही है।

Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned