भारत किसानों का देश, केन्द्र सरकार को बदलना होगा अपना फैसला: कमनलाथ

डिंडोरी पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री, ट्रेक्टर चलाकर किसान रैली को दिखाई हरी झंडी
शोकाकुल शुक्ला और बिलैया परिवार को बंधाया ढांढस
केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को बताया काला कानून

By: ayazuddin siddiqui

Published: 20 Jan 2021, 05:41 PM IST

डिंडोरी. मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम व कांग्रेस कमेटी चीफ कमल नाथ और पूर्व वित्तमंत्री व जबलपुर विधायक तरुण भनोत मंगलवार को डिंडोरी पहुंचे। जहां वह कांग्रेस जिलाध्यक्ष वीरेंद्र बिहारी शुक्ला और नगर के प्रतिष्ठित समाजसेवी स्व. अयोध्या प्रसाद बिलैया के घर पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की। दोनो परिवार से मुलाकात कर पूर्व सीएम व पूर्व वित्तमंत्री सहित अन्य कांग्रेसियों ने शहर की दोनों पुण्य आत्माओं की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। इसके बाद कमल नाथ और तरुण भनोत ने डिंडोरी कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ पार्टी की आगामी नीतियों पर चर्चा की। पूर्व सीएम ने शहर की सडकों पर ट्रैक्टर चलाकर देश के अन्नदाताओं का समर्थन किया और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को किसानों के लिए हानिकारक बताया।
वापस लेना होगा कृषि कानून
कमल नाथ ने मीडिया से चर्चा में कहा कि केंद्र सरकार के कृषि कानून देश के किसानों के लिए काला कानून हैं। भारत किसानों का देश है जहां 70 प्रतिशत से अधिक लोग खेती पर निर्भर हैं। ऐसे में सरकार को तीनों कानून वापस लेना ही होगा। करीब दो महीने से दिल्ली बॉर्डर पर देश के हजारों किसान कृषि कानून का फैसला पलटने को लेकर सरकार की जडे हिला रहे हैं। आंदोलन को भारत के कोने-कोने के किसान भाइयों का समर्थन मिल रहा है।
अर्पित की श्रद्धांजलि
कमलनाथ ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष वीरेंद्र बिहारी शुक्ला की माता स्व. सुशीला देवी शुक्ला के तैलीय चित्र पर पुष्प अर्पित कर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। इसके बाद शोकाकुल शुक्ला परिवार से मुलाकात कर इस असहनीय पीडा को सहने की बात कही। इसके बाद उनके पिता ब्रज बिहारी शुक्ला को ढांढस बंधाते हुए संवेदना व्यक्त की। उन्होंने बडे भाई सुरेंद्र बिहारी शुक्ला एवं उपस्थि पूरे परिवार का हाल जाना और सभी को इस इस दुख की घडी में संबंल प्रदान कर कहा कि माता जी अब हमारे बीच नहीं है लेकिन उनका आशीर्वाद हमेशा हमारे साथ रहता है। इस दौरान उनके परिवार की 2 साल की नन्हीं माही कमलनाथ की गोद में आकर बैठ गई। इस दौरान कमलनाथ माही की बातों से काफी प्रभावित नजर आ रहे थे।
रुका काफिया, कहा- हर वक्त साथ हैं हम
हेलीपेड से जब कमलनाथ मुख्य सडक से गुजरे तो उनका काफिला बिलैया परिवार के मुख्य द्वार पर रुक गया। कमलनाथ ने समाजसेवी स्व. अयोध्या प्रसाद बिलैया के परिवार को सांत्वना दी और उनके बेटों से कहा कि आप और परिवार को जब भी हमारी जरूरत पडे बेझिझक होकर बताना। उन्होंने स्वर्गीय अयोध्या प्रसाद बिलैया को श्रद्धांजलि अर्पित की।
ये रहे मौजूद
पूर्व सीएम के काफिले के साथ डिंडोरी विधायक ओमकार सिंह मरकाम, शहपुरा विधायक भूपेंद्र सिंह मरावी, बिछिया विधायक नारायण सिंह पट्टा, निवास विधायक डॉ अशोक मर्सकोले, मप्र कांग्रेस कमेटी के सचिव सम्मति सैनी, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष शिवराज सिंह ठाकुर, वरिष्ठ पार्षद रीतेश जैन, पूर्व पार्षद रजनीश राय, जगत बहादुर सिंह, पूर्व विधायक डॉ नन्हें सिंह, तुलसीराम धूमकेती, नित्यानंद कटारे, रेवा पांडे, अमरजीत सलूजा, मंडला जिलाध्यक्ष राकेश तिवारी, ब्रजेद्र दीक्षित, आलोक शर्मा, रजनीश राय, डिम्पल दीक्षित, भीम अवधिया, अकील अहमद सिद्दीकी, रीतेश जैन, अशोक छाबडा, मुकेश तिवारी, जावेद इकबाल, रमाकांत साहू, संतोषी साहू, शिवराज सिंह ठाकुर, तकाज अहमद मंसूरी, शिवानी शर्मा पार्षद, दिनेश बर्मन, विजय दाहिया सावित्री धूमकेती, कोशल्या मरावी, पतिराम पन्द्रो, अशोक बडगया, महेंद्र ठाकुर, मालती तिवारी, अविनाश गौतम, राधे लाल नागवंशी, अमित कछवाहा सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned