कोदो और कुटकी की पौष्टिकता की दी जानकारी, बताए फायदे

विश्व खाद्य दिवस के अवसर पर कार्यक्रम

By: ayazuddin siddiqui

Published: 17 Oct 2020, 06:35 PM IST

डिंडोरी. बैगा ग्राम नूनखान विकासखंड डिंडोरी में जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर के अंतर्गत संचालित इकाई कृषि विज्ञान केंद्र एवं महिला बाल विकास के संयुक्त तत्वाधान में विश्व खाद्य दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम डॉक्टर शैलेंद्र सिंह गौतम प्रभारी कृषि विज्ञान केंद्र एवं मंजूलता सिंह जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास के मार्गदर्शन में किया गया। उपस्थित कृषक महिलाओं ने बताया कि ग्राम में कोदो व कुटकी का उत्पादन पीढ़ी दर पीढ़ी किया जा रहा है। कोदो कुटकी की पौष्टिकता तथा खाने में उपयोग करने के तरीकों की विस्तृत जानकारी रेणु पाठक तकनीकी अधिकारी कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा दी गई। स्थानीय स्तर पर उपलब्ध महुआ, अलसी, रमतिला से स्थानीय पद्धति से तैयार महुआ लाटा के पौष्टिक गुणों की जानकारी भी विस्तार पूर्वक दी गई। महिला स्व सहायता समूह का गठन रेणु पाठक द्वारा किया गया। गठित समूह को महुआ का लाटा बनाने के लिए प्रेरित किया गया एवं नीतू तेलगांव परियोजना अधिकारी द्वारा सैम बच्चों के लिए उपस्थित थर्ड मील के रूप में आंगनवाड़ी केंद्र तक सप्लाई कर आय के श्रोत का साधन बनाया जाएगा। जिससे महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त किया जा सकेगा।
बीज का भी किया वितरण
आंगनवाड़ी परिसर में बनाई गई पोषण वाटिका का अवलोकन उपस्थित कृषक महिलाओं को कराया गया एवं उस तरह अपने घर में कम जगह एवं कम लागत, कम समय में अधिक सब्जी भाजी के उपयोग हेतु प्रोत्साहित किया गया।कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक गीता सिंह, एडीपी सिंह, अवधेश कुमार पटेल, कुमारी श्वेता मेश्राम एवं भूपेश्वरी धुर्वे पर्यवेक्षक का कार्यक्रम को सफल बनाने में अतुल्य योगदान रहा।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned