संबल योजना से श्रमिकों की बदलेगी जिंदगी

shivmangal singh

Publish: Jun, 14 2018 05:22:10 PM (IST)

Dindori, Madhya Pradesh, India
संबल योजना से श्रमिकों की बदलेगी जिंदगी

असंगठित श्रमिको को किया गया लाभान्वित

डिंडोरी. प्रदेश में आज का दिन श्रमिकों के लिए ऐतिहासिक दिन है। प्रदेश में पंजीकृत असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना प्रारम्भ की गई है। यह योजना श्रमिकों की जिंदगी बदलने वाली है। मुख्यमंत्री कृषि उपज मण्डी की टिमरनी जिला हरदा में आयोजित मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना के अवसर पर पंजीकृत असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को संबोधित कर रहे थे। जिसे डिण्डोरी जिले के पंजीकृत असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों ने उत्कृष्ट विद्यालय डिण्डोरी के मैदान में आयोजित कार्यक्रम में एलईडी के माध्यम से देखा और सुना। इस अवसर पर प्रदेश शासन के मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे उत्कृष्ट विद्यालय मैदान में आयोजित मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना कार्यक्रम में नगर पंचायत डिण्डोरी के 1 करोड 90 लाख के विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। कार्यक्रम में मंत्री श्री धुर्वे ने हितग्राहियों को मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना, तेंदूपत्ता संग्राहक हितग्राही सम्मेलन, मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना, अंत्येष्टि सहायता राशि, लाडली लक्ष्मी योजना, मातृवंदना योजना, प्रसूति सहायता योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, पट्टा वितरण, चरण पादुका, कुप्पी एवं साडियों से हितग्राहियों को लाभान्वित किया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष ज्योतिप्रकाश धुर्वे, नगर पंचायत अध्यक्ष पंकज सिंह तेकाम, जनपद पंचायत अध्यक्ष देववती बालरे, जनपद पंचायत उपाध्यक्ष सुशील राय, नगर पंचायत उपाध्यक्ष महेश पाराशर, जिला पंचायत सदस्य ऊषा ठाकुर, कलेक्टर मोहित बुंदस, आकाश नामदेव, सुदील बरमैया, रितेश जैन, पुरूषोत्तम विश्वकर्मा, मोहन नरवरिया, श्रद्धा सोनी, सरस्वती पाराषर, राममिलन राठौर, दीपन खम्परिया, चंद्रिका गवले, कैलाश चंद जैन, अशोक अवधिया सहित जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना में मंत्री श्री धुर्वे ने कहा कि मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना का उद्देश्य श्रमिकों के परिवारों के जीवन स्तर में सुधार लाने तथा उन्हें जरूरत और मुसीबत के समय सहायता प्रदान करना है। इस योजना के अंतर्गत महिला श्रमिक को प्रसव पूर्व जांच के लिए 4 हजार रूपए और प्रसव के बाद भी 12 हजार रूपए की सहायता राशि प्रदान की जाती है। अंत्येष्टि के लिए पांच हजार रूपए नगद देने का प्रावधान है। मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना (संबल) योजना में पंजीकृत श्रमिकों को प्रतिमाह 200 रूपए तक बिजली बिल भुगतान करने का प्रावधान किया गया है। श्रमिकों के परिवार में 200 रूपए से अधिक का बिजली बिल आने पर शेष राषि का भुगतान शासन द्वारा किया जायेगा। 200 रूपए से कम बिजली बिल आने पर उतनी ही राषि का भुगतान श्रमिक उपभोक्ता को करना पडेगा। पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों को व्यावसायिक पाठ्यक्रमों, यूपीएससी, पीएससी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए नि:शुल्क कोचिंग प्रदान की जायेगी। श्रमिकों तथा उनके परिवार के लिए नि:शुल्क ईलाज की सुविधा, पंजीकृत श्रमिकों को रोजगार तथा ऋण सहित विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। आयोजित कार्यक्रम को विधायक ओमकार मरकाम, नगर पंचायत अध्यक्ष पंकज तेकाम, जनपद पंचायत अध्यक्ष देववती बालरे और कलेक्टर मोहित बुंदस ने भी संबोधित किया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned