उपस्वास्थ्य केन्द्र में दिनभर लटका रहा ताला

स्टाफ नर्स और एएनएम के भरोसे संचालित हो रहा है केन्द्र

By: shivmangal singh

Published: 25 Apr 2018, 05:15 PM IST

डिंडोरी. समनापुर विकास केन्द्र अंतर्गत बम्हनी में संचालित उपस्वास्थ्य केन्द्र में सोमवार को दिन भर ताला लटका रहा और बीमारी से पीडि़त हलाकान होते रहे। इस स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सक की पदस्थापना न होने से मरीजों को उचित उपचार नही मिल पाता और यहां जिनकी तैनाती है। उनके नदारत रहने से मरीजों को बड़ी परेशानी झेलनी पड़ती है। जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था वैसे ही चरमराई हुई है।
अधिकतर स्वास्थ्य केन्द्रों में चिकित्सक नदारद रहते है और जिनकी तैनाती स्वास्थ्य केन्द्रों में है। वह सेवाएं कहीं और दे रहे हैं। जिसे पीडि़तों को उपचार नही मिल पा रहा है। पीडि़त निजी चिकित्सकों के अलावा झोलाछाप डॉक्टरों की शरण ले रहे हैं। बम्हनी में स्थित स्वास्थ्य केन्द्र के बुरे हाल है। यहां चिकित्सक की पदस्थापना न होने से स्टाफ नर्स एएनएम और चपरासी के भरोसे केन्द्र का संचालन किया जा रहा है। इस केन्द्र में लगभग आधा सैकड़ा गांव के पीडि़त उपचार कराने पहुंचते हैं, लेकिन चिकित्सक के अभाव में गंभीर बीमारियों का उपचार न होने की दशा में ग्रामीण अन्य चिकित्सालयों की शरण लेते है। सर्दी-खांसी और बुखार जैसी मामूली बीमारी से पीडि़त मरीज मजबूरीवश स्टाफ नर्स या तैनात चपरासी से ही उपचार करा घर वापिस चले जाते हैं, लेकिन अनेकों बार स्वास्थ्य केन्द्र में ताला लटके होने से मरीज मायूस लौट जाते है।
सोमवार को स्वास्थ्य केन्द्र में दिन भर ताला लटका रहा और मरीज परेशान होते रहे। इस संबंध में जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर के मेहरा ने बताया कि उपस्वास्थ्य केन्द्र बम्हनी में चिकित्सक की पदस्थापना नही है, स्टाफ नर्स और एएनएम द्वारा केन्द्र का संचालन किया जा रहा है केन्द्र बंद होने के संबंध में जानकारी के बाद कार्रवाई की बात कहने की बजाए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने फोन काट दिया।
--------------------
व्यस्त बाजार में ओवरलोड वाहनों की धमाचौकड़ी
डिंडोरी. मुख्यालय में इन दिनो यातायात व्यवस्था बे पटरी नजर आ रही है। जिस कारण वाहन चालक अपनी मर्जी के हिसाब से अपने वाहन में ओवर लोड माल भर कर मुख्य मार्गों से निकलते है, ऐसे वाहन चालकों पर यातायात पुलिस की कार्यवाही नजर नही आती। ताजा मामला नगर के मुख्य मार्ग इंदिरा मार्केट के पास का है। जहां एक ट्रेक्टर से एक बोरा सड़क पर ट्रेक्टर के टायरों के बीच जा गिरा। जिससे ट्रेक्टर मुख्य पर चलते-चलते रुक गया। गनीमत रही कि ट्रेक्टर के पीछे कोई वाहन नही था। जिससे कोई बड़ी दुर्घटना घटने से बच गई। ओवर लोडिंग कर हर दिन यातायात पुलिस की नजरो के सामने से गुजरते है, लेकिन आज तक किसी ने भी ऐसे वाहन चालकों पर कार्यवाही की जहमत नही उठाई।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned