जारी होगा नोटिस: बिना अनुमति अधिकारी ने ली छुट्टी, अब कटेगा वेतन

रोजगार देने में लापरवाही करने वालों को भी नोटिस जारी करने के निर्देश

By: ayazuddin siddiqui

Published: 07 Jul 2020, 06:30 PM IST

डिंडोरी. कलेक्टर ने निर्देश दिए हैं कि जनपद स्तरीय अधिकारी जूम एप के माध्यम से समय-सीमा की बैठक में भागीदारी करेंगे। जिससे जनपद स्तरीय कार्यांे की भी समीक्षा की जा सके। इसके बावजूद एडीओ करंजिया बैठक में अनुपस्थित पाए गए। कलेक्टर ने एडीओ की उक्त कार्यप्रणाली को गंभीरता से लेते हुए कारण बताओ नोटिस जारी करने को कहा है। जनपद पंचायत अमरपुर में प्रधानमंत्री आवास योजना, कंटूर ट्रंच सहित निर्माण कार्यांे में धीमी प्रगति पाये जाने पर मुख्यकार्यपालन अधिकारी को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। इसी प्रकार से ग्राम पंचायत कुकर्रामठ जनपद पंचायत समनापुर में निर्माण कार्यांे को स्वीकृत नहीं करने के कारण उपयंत्री को नोटिस जारी करने को कहा है। बैठक में बताया गया कि कार्यपालन यंत्री जल संसाधन अवकाश पर चले गए हैं। उन्होंने अवकाश के लिए कलेक्टर से अनुमति नहीं ली। कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री के इस प्रकार की कार्यप्रणाली को गंभीरता से लेते हुए उन्हें नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं, उनका वेतन भी काटा जायेगा। वहीं कोविड 19 कोरोना वायरस संकटकाल में जिले में प्रवासी श्रमिकों की वापसी हुई है। कलेक्टर ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान के माध्यम से सभी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उक्त निर्देशों के बावजूद भी कार्यपालन यंत्री पीआईयू, कार्यपालन यंत्री पीएमजीएसवाय, सीएमओ शहपुरा के द्वारा लापरवाही बरती गई। कलेक्टर ने इस प्रकार की कार्यप्रणाली को गंभीरता से लेते हुए उक्त अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने को कहा। कलेक्टर कार्तिकेयन सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक में विभागीय कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ, अपर कलेक्टर, एसडीएम डिंडोरी, एसडीएम शहपुरा, सहायक कलेक्टर, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग, सीएमएचओ, डीपीसी, कार्यपालन यंत्री लोनिवि, कार्यपालन यंत्री पीआईयू, कार्यपालन यंत्री पीएमजीएसवाय सहित जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे। कलेक्टर ने कहा कि प्रवासी श्रमिकों को विभिन्न निर्माण कार्यों एवं योजनाओं में रोजगार उपलब्ध कराया जाए। विभागीय अधिकारी और मुख्यकार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत यह तय करें कि उनके क्षेत्र में पहुंचे प्रवासी श्रमिकों को नियमित रूप से रोजगार मिलता रहे। कलेक्टर ने कहा कि ऐसे प्रवासी श्रमिक जिनकी आयु 60 वर्ष या 60 वर्ष से अधिक है ऐसे श्रमिकों को चिहिन्त कर उनका सामाजिक सुरक्षा पशन का प्रकरण तैयार करें। ग्राम पंचायतों में दिव्यांगजनों का भी सर्वे करें और उनका स्वास्थ्य परीक्षण करायें। दिव्यांगजनों का पेंशन प्रकरण स्वीकृत करें। कलेक्टर ने जनपद पंचायतवार निर्माण कार्यां की समीक्षा करते हुए कहा कि ग्राम पंचायतों में जो निर्माण कार्य पूर्ण हो चुके हैं उनकी सीसी जारी करें। जिले में चल रहे निर्माण एवं विकास कार्यां में श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करायें। खाद और बीज की उपलब्धता के संबंध में उप संचालक कृषि और जनपद पंचायतों के सहायक संचालक कृषि से विस्तार से चर्चा की। विद्युत विभाग के सहायक यंत्री को निर्देश दिए कि जिले में विद्युत समस्या नहीं होनी चाहिए। इस अवसर पर ग्राम दुनियाबघाड की विद्युत समस्या दूर करने व लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध कार्यवाही करने को कहा। किल कोरोना अभियान को सफल बनाने के लिए जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। सभी अधिकारी अपनेे दायित्वों का ईमानदारी पूर्वक निर्वहन करें।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned