छात्रों से फीस के नाम पर अवैध वसूली के आरोप में प्राचार्य गिरफ्तार

विधायक के पास पहुंचा मामला, जांच जारी

By: Rajkumar yadav

Updated: 01 Mar 2020, 04:09 PM IST

शहपुरा. छात्रों से फीस के नाम पर अवैध वसूली के आरोप में प्राचार्य को गिरफ्तार किया गया है। हालांकि आरोपी प्राचार्य को तहसील न्यायालय से मुचलके पर सशर्त जमानत मिल गई। छात्रों से अवैध वसूली का मामला संग्रामपुर हाईस्कूल का है। बताया जा रहा है कि प्राचार्य प्रभात ठाकुर ने दसवीं कक्षा के छात्रों से एक एक हजार रुपये वसूल लिए और पैसे नही देने वाले छात्रों को प्रवेश पत्र देने में आनाकानी की जा रही थी। छात्र अपनी गुहार लेकर विधायक भूपेंद्र मरावी के दफ्तर पहुंचे जब विधायक भूपेंद्र मरावी को मामले की जानकारी लगी तो उन्होंने एसडीएम ऋषभ जैन को फौरन कार्रवाई के निर्देश दिए । विधायक के निर्देश के बाद प्रिंसिपल प्रभात ठाकुर को पुलिस ने हिरासत में ले लिया जहां तहसीलदार एन एल बर्मा ने आरोपी प्रिंसिपल को निजी मुचलके पर सशर्त रिहा कर दिया। तहसीलदार ने प्रिंसिपल को निर्देशित किया है कि सभी बच्चों से वसूली गई फीस की राशि वापस करें और छात्रों को परीक्षा के लिए प्रवेश की फीस शासन ने माफ की है तो उक्त वसूली किसके लिए हो रही है। वही इस पूरे मामले में विकासखंड शिक्षा अधिकारी संजय सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जांच की जा रही है जांच के बाद पूरा मामला उच्चाधिकारियों को भेजा जाएगा।
परिवहन विभाग को १३ करोड़ का लक्ष्य
डिंडोरी. जिला परिवहन विभाग द्वारा लगातार ऐसे बड़े वाहनों पर कार्रवाई कर रही है जिससे शासन को राजस्व प्राप्त होना है। परिवहन विभाग की लिस्ट में बस, ट्रक, ट्रैक्टर, कमर्शियल वाहन शामिल है। जिन्होंने अब तक टैक्स नहीं जमा किया है। ऐसे वाहनों को फील्ड में ढूंढ-ढूंढ कर कार्रवाई की जा रही है। वाहनों से टैक्स वसूली को लेकर लगातार हो रही कार्रवाई को लेकर जिला परिवहन अधिकारी रमा दुबे ने बताया है कि इस साल विभाग ने 13 करोड़ 18 लाख रुपये का लक्ष्य रखा है।
जिसे पूरा करते हुए अब तक 10 करोड़ 40 लाख रुपए की राजस्व वसूली जिला परिवहन विभाग के द्वारा की जा चुकी है। जिला परिवहन अधिकारी रमा दुबे ने बताया कि आदिवासी जिले में सबसे ज्यादा वाहनों में बस, ट्रक, डंपर और ट्रैक्टर है जो ग्रामीण इलाकों में ज्यादा दौडते है। इन पर कार्रवाई के दौरान कुछ राजनीतिक दबाव का सामना जरूर विभाग को करना पडता है, लेकिन मुख्यालय के निर्देशों का पालन करते हुए बिना किसी राजनीतिक दबाव के बेधड़क कार्रवाई की जा रही है।
जानकारी के अनुसार अब तक 40 से ज्यादा ऐसी बसें है जिनका टैक्स जमा नहीं हो पाया है वहीं 60 से ज्यादा डंपर है जिन्हें अभी टैक्स जमा करना बाकी है। इन सभी को विभाग ने नोटिस जारी भी किया है। जिला परिवहन विभाग की मानें तो शासन ने ऐसे बड़े बकायादारों के लिए फस्र्ट टाइम सेटलमेंट स्कीम बनाई है जो स्टालमेंट में राशि जमा कर सकते है। वहीं वाहन की उम्र के हिसाब से भी टेक्स जमा करने में रियायत दी जा रही है।

Patrika
Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned