भरी बरसात में पानी के लिए तरह से रहवासी, 1 हैंडपंप 40 परिवार

पं. दीनदयाल नगर में लगा समस्याओं का अंबार

By: Rajkumar yadav

Published: 05 Sep 2019, 10:19 AM IST

डिंडोरी. जिला मुख्यालय के वार्ड नंबर 3 के अंतर्गत पंडित दीनदयाल नगर के रहवासी मूलभूत समस्याओं को लेकर आज भी जद्दोजहद में लगे हुए हैं। वार्डवासी बरसात के दिनों में भी पानी के लिए तरस रहे है। ज्ञात हो कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर में 40 परिवार के लगभग डेढ़ सौ लोग निवासरत हैं 40 परिवारों के जलापूर्ति के लिए एकमात्र हैंडपंप है। जहां सुबह 4.00 बजे से देर रात तक पानी भरने वालों का तांता लगा रहता है। वार्ड की महिलाओं ने बताया की दो डब्बा पानी के लिए 2 घंटे से लाइन लगानी पड़ती है। उस पर भी लगातार चलने के कारण हैंडपंप से गंदा मटमैला पानी निकलने लगता है। गर्मी के दिनों में टैंकर से जलापूर्ति तो हो जाती है वह भी 3 दिन में एक बार किंतु बरसात के दिनों में नगर परिषद भी टैंकर की सप्लाई बंद कर देती है। जिसके कारण पूरे वार्ड के लोगों को पानी की बूंद बूंद के लिए मेहनत करनी पड़ती है। आए दिन पानी भरने को लेकर और नंबर आने को लेकर आपस में विवाद होता रहता है।
नहीं हुई फिटिंग
पानी की समस्या को देखते हुए नगर परिषद के द्वारा लगभग डेढ़ माह पूर्व 1 बोर कराया गया था। जिससे वार्ड वासियों को पानी की समस्या से निजात मिलने की आशा जगी थी किंतु डेढ़ माह बीत जाने के बाद भी उक्त नए बोर में हैंडपंप नहीं लगाया जा सका। वार्ड वासियों का कहना है कि इसमें शीघ्र ही फिटिंग कराई जाए ताकि कुछ तक पानी की समस्या से निजात मिल सके।
टैंकर बना खिलौना
पीपल टोला से बायपास मार्ग पर नगर परिषद के द्वारा गर्मी के दिनों में पानी की सप्लाई के लिए भेजे जाने वाला टैंकर विगत 4 माह से मुख्य मार्ग पर खड़ा है। जिसकी ना तो जिम्मेदार अधिकारियों को परवाह है और ना ही नगर परिषद को टैंकर की सुध है। मोहल्ले के छोटे-छोटे बच्चे इस टैंकर के ऊपर चढ़ते हैं कुदते हैं जिससे दुर्घटना का डर पालकों को बना रहता है। यह बात नगर परिषद के सीएमओ के संज्ञान में लाई गई तो उन्होंने इससे अनभिज्ञता जाहिर करते हुए कहा कि यह मामला संज्ञान में आया है मैं इसे दिखाता हूं ।
स्ट्रीट लाइट की मांग
बाईपास मार्ग में स्ट्रीट लाइट नहीं है जिसके कारण शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। आने जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं अंधेरे का फायदा उठाकर अराजक तत्व मुख्य मार्ग पर बैठे रहते हैं। जिस वजह से आने जाने वाले लोगों को खासकर महिलाओं को अच्छी खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा बाईपास चौराहे से पीपल टोला तक नई सड़क का निर्माण हुआ है जिसमें एक भी स्पीड ब्रेकर नहीं है। सड़क के किनारे किनारे रहवासी मकान बने हुए हैं जहां छोटे.छोटे बच्चे खेलते रहते हैं। इसी मार्ग पर विगत दिनों में कई बार दुर्घटनाएं भी हो चुकी है वार्ड वासियों का कहना है कि स्पीड ब्रेकर ना होने के कारण वाहन चालक तेज गति से वाहन निकालते हैं जिससे दुर्घटना होती रहती हैं।
मुख्य मार्ग में खड़े रहते हैं भारी वाहन
पीपल टोला से बाईपास चौराहे तक मुख्य मार्ग में बड़े वाहन घंटों खड़े रहते हैं। रेत से भरे डंपर सहित अन्य चार पहिया वाहन इस मार्ग पर लगातार खड़े रहते हैं। जिसके कारण आवागमन अवरुद्ध होता है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर के रहवासी तथा बाईपास चौराहे के आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि इस चौराहे से मंडला जबलपुर शहडोल सहित अन्य क्षेत्रों पर जाने वाले वाहन पूरे समय निकलते रहते हैं। चौराहे में सांकेतिक बोर्ड ना होने के कारण वाहन चालक भटक जाते हैं। इसके अलावा बाईपास मार्ग में स्थानीय लोगों के द्वारा जगह-जगह रेत गिट्टी ईट लोहे की सरिया जैसी निर्माण सामग्री रख ली गई है। जिसके कारण मार्ग में जगह कम हो जाती है। जिसके कारण अच्छी खासी परेशानी उठानी पड़ती है।
पानी की बहुत समस्या है घंटों लाइन लगने के बाद दो डब्बा पानी मिल पाता है टैंकर भी अब नहीं आता।
धनेश्वरी मार्को, वार्ड क्र.०३

Patrika
Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned