निर्माण कार्य व योजनाओं के नाम हुई करोड़ो की हेराफेरी

जनपद अध्यक्ष ने अधिकारियों पर लगाए भ्रष्टाचार के संगीन आरोप

By: Rajkumar yadav

Published: 08 Dec 2019, 10:03 AM IST

डिंडोरी/शहपुरा. जनपद पंचायत शहपुरा के अध्यक्ष थानी सिंह धुर्वे ने अपने ही कार्यालय के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया है। थानी सिंह धुर्वे ने बताया कि जनपद पंचायत शहपुरा का कार्यालय भ्रष्टाचार का गढ़ बना हुआ है। यहां बिना वाहन के और बिना काम किए ही ठेकेदारों का बिल लग जाता है। यहां के अधिकारी कर्मचारी उसका भुगतान भी कर देते हैं। सीईओ, एसडीओ,उपयंत्री और सरपंच-सचिवों की मिलीभगत से जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। ग्राम पंचायतों में मजदूरों से काम कराया जाता है और भुगतान ट्रेक्टरों का फर्जी तरीके से कर दिया जाता है। जीएसटी, टिन नंबर बंद होने के बावजूद भी ठेकेदारों का भुगतान कर दिया जाता है। वहीं ग्रेवल रोड निर्माण में जहां 3 कोट कार्य होना चाहिए वहां 1 कोट कार्य कराकर ही उपयंत्रियों द्वारा अपने ठेकेदारों से मिलीभगत से काम कराया गया और उसका भुगतान भी कर दिया गया है। इसमें लगभग 10 करोड़ रुपये की हेराफेरी की गई है। स्टाप डेम निर्माण कार्यों में भी अनियमितता सामने आई है। ग्राम पंचायतों में सार्वजनिक शौचालय के नाम पर 2 से 5 लाख रुपये का गोलमाल किया गया है। किसी भी ग्राम पंचायत में सार्वजनिक शौचालय का निर्माण ही नहीं कराया गया है। मुक्तिधाम निर्माण कार्य में भी लीपापोती की गई है । जनपद पंचायत शहपुरा के अध्यक्ष थानी सिंह धुर्वे ने बताया कि शासकीय राशि के दुरुपयोग को लेकर उनके द्वारा 2016 से जिले के अधिकारियों को पत्र लिखकर अवगत कराया जा रहा है। इसके बाद भी आज तक इसकी जांच और कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है । उन्होंने कहा कि यदि जल्द से जल्द भ्रष्टाचार के इन मामलों पर जांच और दोषियों पर कार्यवाही नहीं होती तो उन्हें धरना-प्रदर्शन और हड़ताल करने पर मजबूर होना पड़ेगा ।
इनका कहना है
जनपद अध्यक्ष द्वारा जो आरोप लगाए गए हैं उन सबकी बिंदुबार जांच चल रही है। आरोप अगर सिद्ध पाए जाते हैं तो नियमानुसार जो भी हो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
के के रैकवार, सीईओ जनपद पंचायत शहपुरा

Patrika
Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned