किराए के निर्माणाधीन भवन में संचालित हो रहा स्कूल

किराए के निर्माणाधीन भवन में संचालित हो रहा स्कूल

ayazuddin siddiqui | Publish: Jul, 21 2019 05:33:57 PM (IST) Dindori, Dindori, Madhya Pradesh, India

पम्पलेट में दिखाए सब्जबाग, मौके पर कुछ भी नहीं

डिंडोरी. जिले में निजी स्कूल संचालकों की मनमानी थमने का नाम नही ले रही है। नतीजतन इसका खामियाजा अभिभावकों व नौनिहालों को भुगतना पड़ रहा है। ऐसा ही मामला जिला मुख्यालय से महज बारह किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत मढिय़ारास का सामने आया है। जहां एम एस जी अकादमी द्वारा शासन के नियमों को दरकिनार कर शिक्षा का अधिकार अधिनियम से परे नर्सरी से कक्षा 8 तक किराए के निर्माणधीन भवन में स्कूल का संचालन किया जा रहा है।
अंधकारमय भविष्य
नियमो से परे संचालित हो रहे स्कूल में नर्सरी से कक्षा 8 तक के 70 बच्चों का भविष्य गैर प्रशिक्षित चार शिक्षकों के हांथों में है। जिनमे से सिर्फ एक शिक्षक ही ऐसा है जिसके पास डी एड की डिग्री है। बांकी बारहवीं पास है जो स्कूली बच्चों को तालीम दे रहे हैं।
चार छोटे कमरों में स्कूल संचालन
निजी स्कूलों में बरती जा रही मनमानी का आलम यह है कि जिस कक्ष में हेड मास्टर का कार्यालय है उसी कक्ष में छात्र -छात्राएं बैठकर पढ़ाई कर रहे हैं। इसके अलावा शेष तीन कमरों में भी यही स्थिति है। इसके अलावा ना तो बच्चों के लिए खेल मैदान हैं और न ही स्कूल भवन में छात्र छात्राओं हेतु प्रथक प्रथक शौचालय और तो और पानी भी प्रधान पाठक छात्र को बाइक में पीछे बैठा कर दूर से ला रहे हैं।
गिनाई थी सुविधाएं
एम एस जी अकादमी द्वारा स्कूल में प्रवेश हेतु अभिभावकों को पम्पलेट के माध्यम से लगभग बारह बिंदुओं पर स्कूल की विशेषतायें दर्शा कर सब्जबाग दिखाए गए हैं। जबकि मौके पर बारह विशेषताओं में से एक भी विशेषता नजर नही आई। बावजूद इसके स्कूल का संचालन धड़ल्ले से हो रहा है। जिससे सब अंजान बने हुए है। इस संबंध में जब संस्था प्रमुख से उनके मोबाइल फोन पर सम्पर्क करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने फोन रिसीव करना उचित नहीं समझा।
इनका कहना है
अभी तक यह मामला मेरे इस संस्था से संंबंधित कोई भी आवेदन मेरे संज्ञान में नहीं आया है। यदि मढिय़ारास में ऐसा कोई स्कूल नियमों से परे संचालित हो रहा है तो नि:संदेह उचित कार्यवाही की जाएगी।
राजेश परस्ते, बीआरसी, डिंडोरी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned