कभी कोरोना वारियर बन करते हैं मदद, तो कभी कर रहे रक्तदान

खर्च की परवाह किए बिना युवा कर रहे बेजुबान का इलाज

By: Ramashankar mishra

Published: 21 Sep 2020, 01:07 PM IST

डिंडोरी. भागमभाग भरी जिंदगी में जब लोगों के पास अपनो के लिये समय नही है ऐसे समय मे मुख्यालय से युवाओं का एक दल नि:स्वार्थ सेवा भाव से खर्च की परवाह किये बगैर कहीं कोरोना वारियर का रोल अदा करता नजर आता है तो कहीं रक्तदान कर मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं। साथ ही बेजुवानों का का मददगार बन इंसानियत का फर्ज भी निभा रहे हैं। नगर के युवा शुभम पांडे, अविनाश सैनी, वैभव, कृष्णा परस्ते, छोटे ठाकुर और मित्र मंडली समय समय पर सुबह हर एक क्षेत्र में अपना शत प्रतिशत योगदान देने में जरा भी संकोच नही करते। शुभम और उनके दोस्तों की नेकी से जुडा एक नजारा रविवार को पुराने सत्संग भवन के सामने देखने को मिला। युवा टीम भारी भरकम और विशालकाय नंदी का इलाज करते देखे गए।
रक्तरंजित था पैर
जानकारी के मुताबिक उक्त नंदी का सामने का एक पैर किसी भारी वाहन की चपेट में आ गया था। जिससे उसके खुर पूरी तरह अलग हो गये थे और वह विगत तीन चार दिन से रक्तरंजित हो दर्द से तड़पते हुये लंगडाकर यहां से वहां भटक रहा था। इसकी जानकारी जैसे ही युवा दल को लगी तो उन्होंने प्लान बनाकर सबसे पहले सत्संग भवन के सामने इस विशालकाय नंदी को अपने काबू में लिया। इसके बाद उसका इलाज प्रारंभ किया। इस दौरान इन युवाओं ने नंदी के दर्द को महसूस करते हुए जानवरों के डॉक्टर से परामर्श ले दर्द निवारक इंजेक्शन भी कुशल प्रशिक्षु से लगवाया व घाव आदि की मरहम पट्टी कर दवाइयों के साथ नंदी के खाने-पीने का इंतजाम भी किया।
पूरी तरह स्वस्थ होने तक जारी रहेगा इलाज
शुभम और उसके दोस्तो ने बताया कि यह सब उनकी दिनचर्या में शामिल हो गया है। नंदी को लेकर भी इन सभी का कहना था कि जब तक नंदी पूरी तरह स्वस्थ नही हो जाता तब तक वह उसकी देखरेख बराबर करते रहेंगे। बहरहाल युवाओं की इस नेकीयत और दरियादिली को नगर में सर्वत्र सराहा जा रहा है।

Show More
Ramashankar mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned