scriptSomewhere in the dilapidated, somewhere the raw construction of the ca | कहीं जर्जर तो कहीं कर दिया नहर का कच्चा निर्माण | Patrika News

कहीं जर्जर तो कहीं कर दिया नहर का कच्चा निर्माण

नहर निर्माण कार्य में बरती गड़बड़ी का निरीक्षण करने पहुंचेंगे अधीक्षण यंत्री

डिंडोरी

Published: December 23, 2021 12:37:36 pm

डिंडोरी. एक ओर किसानों की आय में बढ़ोतरी के लिए उनके फसल की पैदावार बढ़ाने के लिए किसानों के खेतों तक पानी पहुचाने के लिए नये-नये जलाशय व नहर निर्माण के नाम पर अरबों रुपए खर्च किए जा रहे हंै। वहीं दूसरी ओर उन योजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लिए जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा अनियमितता की जा रही है। मामला जिला अन्तगर्त शहपुरा का है जहां पर शीर्ष उपसंभाग बिलगाव परियोजना शहपुरा के अंतर्गत सारसडोली जलाशय अंतर्गत बनने वाली नहरों के निर्माण में ठेकेदार कम्पनी, तत्कालीन एसडीओ, उपयत्री ने मिलकर जहा गुणवत्ताहीन नहरों का निर्माण कार्य किया है। वहीं दूसरी ओर निर्माण कार्य पूरा हुए बिना ही ठेकेदार के नाम पर सम्पूर्ण राशि का आहरण करवा किसानों के हित के नाम पर आर्थिक लाभ कमाया है। नतीजा यह हुआ है कि जहां वर्तमान मे क्षेत्र के लगभग 1515 हेक्टेयर जमीन मे सिचाई होनी थी लेकिन वर्तमान मे मुश्किल से एक हेक्टेयर मे ही सिंचाई हो पा रही है। कार्यपालन यंत्री जलससाधन विभाग डिण्डौरी के अनुसार, अनुसार मामले के निरीक्षण के लिए जल्द ही विभाग के अधीक्षण यंत्री आएंगे।
यह है मामला
जानकारी अनुसार क्षेत्र अंतगर्त जबलपुर मार्ग मे कोहानी देवरी के पास सारसडोली मे नवनिर्मित जलाशय से दो मुख्य केनाल जिसमें आरबीसी व एलबीसी थी व उन नहरों को एक तय लम्बाई में बनाना था लेकिन जानकारी अनुसार ठेकेदार व विभागीय मिलीभगत से एलबीसी की लम्बाई जहा 9000 मीटर थी लेकिन उसे केवल 8000 मीटर तक ही बनाया गया है। वहीं बनाई गई दोनों मेन केनाल की हालत बनने के साथ ही जर्जर अवस्था में है जगह-जगह से नहरें चटक रही है तो कुछ स्थानों पर नहरों में पक्का कार्य ही नहीं किया गया है। दोनों केनाल के निर्माण में तय प्राकल्लन के विपरीत गुणवताहीन कार्य किया गया है।इसके अलावा ठेकेदार व्दारा जलाशय से निकली आरबीसी मेन केनाल मे चार माइनर नहरों का निर्माण कार्य शासन व्दारा तय प्राकल्लन के तहत करना था लेकिन आरबीसी केनाल में बनी माईनर नम्बर एक में गुणवताहीन कार्य होने के कारण चार सौ मीटर के आगे पानी ही नहीं पहुच पा रहा है,माईनर नम्बर दो भी चोक है। इसके अलावा माईनर नम्बर चार नम्बर की नहर स्थल पर बनी ही नहीं है लेकिन रिकार्ड मे उसे बनी हुई बताकर राशि का आहरण कर लिया गया है। वहीं दूसरी ओर जलाशय की एलबीसी मुख्य केनाल से निकली माईनर नम्बर एक, दो, तीन, चार, पांच, छह में तय प्राकल्लन के विपरीत कार्य गुणवताहीन होने के कारण पानी ही नही पहुंच पा रहा है।
मिलीभगत से बरती गई अनियमितता
जानकारी अनुसार सारसडोली जलाशय क्षेत्र से लगे ग्रामीण इलाको के किसानों की करीब 15-15 हैक्टेयर जमीन तक नहरों के माध्यम से पानी पहुचाना था व उसके लिए प्रति एक्टेयर एक लाख रुपए के मान से मुख्य नहरों व माईनर नहरो का तय लम्बाई का तय प्राकल्लन के तहत भुगतान ठेकेदार कम्पनी को विभाग व्दारा करना था व उपरोक्त कार्य के लिए मिली जानकारी अनुसार दिसम्बर 2021 तक का वक्त तय हुआ था परन्तु दो वर्ष गुजर जाने के बाद भी स्थल पर जहा मुख्य केनाल जगह जगह से चटकी है व स्वीक्रत लम्बाई से कम बनी है साथ ही माईनर नहरो के निर्माण में भी गड़बड़ हुई है। अब हालाकि मामला प्रकाश में आने के बाद कार्य स्थल का विभाग के वरिष्ठ अधिकारियो व्दारा निरीक्षण कर आगे की कार्यवाही की जाने की बाद कही जा रही है जिसके बाद ही दोषियो के विरूध्द कार्यवाही हो सकती है।
इनका कहना है
सारसडोली नहर निर्माण कार्य का जल्द ही विभाग के अधीक्षण यंत्री निरीक्षण करेगे निरीक्षण के बाद ही मामले मे कुछ कहा जा सकता है।
व्हीजीएस साडया, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग डिंडोरी

Somewhere in the dilapidated, somewhere the raw construction of the canal
Somewhere in the dilapidated, somewhere the raw construction of the canal

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकातत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanPriyanka Chopra Surrogacy baby: तस्लीमा ने वेश्यावृत्ति, बुरका से की सरोगेसी की तुलनाराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 23 January 2022: सिंह राशि वालों के मन में प्रसन्नता रहेगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतइलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करना अब नहीं पड़ेगा महंगा, IIT ने तैयार की नई तकनीक, लागू होने पर EV भी हो सकते हैं सस्तेहरियाणा में अभी नहीं खुलेंगे स्कूल, जानिए शिक्षा मंत्री ने क्या कहाMPPSC Recruitment : चिकित्सा के क्षेत्र में कई पदों पर निकलीं भर्तियां, ऐसे करें आवेदन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.