सडक और पुलिया के अभाव में शिक्षा से वंचित छात्र

सडक और पुलिया के अभाव में शिक्षा से वंचित छात्र

shivmangal singh | Publish: Sep, 05 2018 03:52:37 PM (IST) Dindori, Madhya Pradesh, India

सडक और पुलिया की मांग लेकर पहुंचे ग्रामीण

डिंडोरी। जनपद पंचायत डिंडोरी अंतर्गत ग्राम पंचायत चौरा के ग्रामीणो के साथ विद्यार्थी मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुंच समस्या दर्ज कराई है। छात्रों ने बताया कि चौरा माल में लगभग दो सौ परिवार निवासरत है लेकिन मूलभूत सुविधाओं से बंचित है। ग्रामीणो ने बताया कि गांव में आधा सैकड़ा से अधिक स्कूली बच्चे हैं जिनके लिए स्कूल तक पहुचना काफी दूभर है। लगभग दो दर्जन विद्यार्थी गांव में संचालित प्राथमिक शाला मे पढने जाते है वही दो दर्जन से अधिक छात्र छात्राएं ग्राम से चार किलोमीटर दूर हाई स्कूल मुडियाखुर्द पढाई करने जाते हैं। लेकिन बारिश के दौरान कई कई दिनो तक विद्यार्थी स्कूल तक नहीं पहुंच पा रहे है। ऐसा नहंी है कि सिर्फ छात्र छात्राओ के लिए ही समस्या हो बल्कि ग्रामीणो सहित मवेशियो के लिए भी परेशानी हो रही है। समस्या के चलते ग्रामीणो ने पूर्व मे जनप्रतिनिधियो और प्रशासन से सड़क एवं पुलिया निर्माण की मांग की थी। जिसके बाद प्रधानमंत्री सडक स्वीकृत की गई थी और केबिनट मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने स्वीकृति के पश्चात भूमिपूजन करने के लिए गांव पहुंचे थे। जिसके बाद ग्रामीणो को लगा था कि अब ग्राम की सबसे बडी परेशानी का हल हो जाऐगा लेकिन मुसीबत जस की तस बनी हुई है और स्वीकृत हुई सडक का निर्माण अन्यत्र स्थल पर किया जा रहा है। इस संबध में ग्रामीणो ने निर्माण एंजेसी के कर्ताधर्ता से पूंछा तो उनके द्वारा आदेश के मुताबिक निर्माण करवाने की बात कही गई है। ग्रामीणो के लिए सबसे बडी परेशानी गांव में प्रवाहित टिटही नदी है। जिसमें पुल नहीं होने के कारण जब भी जलस्तर बढता है तो ग्रामीणो को मुख्य मार्ग व अन्य ग्रामो से संपर्क टूट जाता है और बीमारी व परेशानियो में ग्रामीण हलाकान हो जाते हैै। ग्रामीणो ने लिखित आवेदन में उल्लेख किया है कि यदि 15 दिवस के भीतर उनकी समस्या का निदान नहीं किया गया तो डिंडोरी अमरकंटक मार्ग में चक्काजाम किया जावेगा ।
कीचड़ व दलदल भरा रास्ता ग्रामीणों के लिये बना परेशानी का सबब
डिंडोरी। जनपद पंचायत करंजिया की ग्राम पंचायत मूसामुंडी के ग्रामीण मार्ग न होने के कारण परेशानियों से जूझ रहे है। ग्राम पंचायत अंतर्गत ग्राम छुरिया मंट्टा, आवास टोला, खेंरवा टोला, मूसामुडी रैयात के सैंकड़ा भर ग्रामीण मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुंच लिखित आवेदन के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कराइ। ग्रामीणों ने बताया कि अमरकंटक डिंडोरी मार्ग से लगभग तीन किमी गांव पहुंचने का मार्ग कीचड़ और दलदल में तब्दील हो गया है। 1995 के पूर्व लोकनिर्माण विभाग द्वारा मिट्टी मुरूम डाल कर मार्ग का निर्माण कराया गया था। जिसके बाद न ही ग्राम पंचायत द्वारा और न ही प्रशासन के द्वारा इस मार्ग की सुध ली गई। बारिश के दौरान मार्ग में वाहन चलना तो दूभर ही है पैदल चलने में भी समस्या होती है। बिमारी व अन्य कारणों के चलते ग्रामीण गंतव्य तक नही पहुंच पाते खास तौर पर गर्भवती महिलाओं के लिये भारी मुसीबत होती है। कई बार तो पीडि़तों को चार पाई में मुख्य मार्ग तक लाया जाता है। ग्रामीणों ने बतलाया कि पूर्व में तो कुछ मौते भी हो चुकी है। ग्राम से हर रोज दर्जन भर से अधिक ग्रामीणों को डिंडोरी या आस पास के कस्बाई गांव में जाना पड़ता है। इसके अलावा सप्ताहिक बाजार में भी महिला और पुरूषों को घरेलू समाग्री क्रय करने जाना मजबूरी है। वहीं विद्यार्थियों के लिये भी मार्ग में कीचड़ बड़ी परेशानी है।

Ad Block is Banned