फिर शुरू हुआ बेतरतीब निर्माण कार्य, उपयंत्री के बगैर चल रहा कार्य

348 कालोनीनुमा आवास की लागत 20 करोड रूपये

By: ayazuddin siddiqui

Updated: 30 Dec 2018, 05:22 PM IST

डिंडोरी। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवासहीनों के लिये बनाये जा रहे भवन को लेकर एक बार फिर उंगली उठने लगी है। नगर के बायपास के पास औंरई मार्ग में फ्लैटनुमा आवास बनाये जा रहे हैं 348 कालोनीनुमा आवास की लागत 20 करोड रूपये है यहां पर उपयोग की जाने वाली सामग्री को लेकर पहले भी उंगलियां उठी थी साथ ही निर्माण की गुणवत्ता को लेकर भी सवालिया निशान लगे थे। नगर परिषद के अधीन इस काम में काफी खामियां देखने को मिली थी। निर्माण साईट पर किसी तरह का लैब स्थापित नहीं किया गया साथ ही यहां पर उपयोग की जाने वाली सामग्री की गुणवत्ता काफी घटिया रही। नगर परिषद में कोई तकनीकी अधिकारी नहीं है यहां उपयंत्री की गैर मौजूदगी का फायदा निर्माण ठेकेदार ने जमकर उठाया और घटिया स्तर का निर्माण कार्य कराया। पूरे मामले पर सीएमओ शषांक आर्मो ने स्वयं जाकर स्थल का निरीक्षण किया और घटिया कार्य होने पर कार्य को तत्काल रोके जाने के लिये पिछले सप्ताह निर्देशित किया था साथ ही निर्माण में जो भी कमियां रही हैं उन्हें पूरा किये बगैर काम शुरू नहीं करने की नसीहत भी दी थी। अभी एक सप्ताह भी नहीं बीते की ठेकेदार ने एक बार फिर निर्माण कार्य शुरू कर दिया जो भी यहां पर कमियां थी वह बदस्तूर जारी हैं। यहां वहीं निम्नस्तर की ईंटों का उपयोग किया जा रहा है जिसे रोकने के लिये कोई भी अमला मौजूद नहीं है। गैरतकनीकी व्यक्ति भी निर्माण की गुणवत्ता को पहली नजर में सवालिया निषान लगा रहा है दीवारों की जुडाई के दौरान फिनिशिंंग का ध्यान नहीं रखा गया। जिला मुख्यालय में चल रहे इस निर्माण कार्य को ठेकेदार की मनमानी ही कहें कि वह मनमर्जी से काम करने को आमादा है। विभाग द्वारा दिये गये निर्देशों को धता बता यहां पर निर्माण किया जाना बडी अनियमितता है। पूरे मामले की जानकारी सीएमओ शशांक आर्मो को देते हुये निर्माण शुरू किये जाने पर जानकारी ली गई तो सीएमओ ने बताया कि फिलहाल उनकी जानकारी में नहीं है कि ठेकेदार ने काम शुरू कर दिया है। पिछली बार निरीक्षण में कमियां पाये जाने पर कार्य रूकवाया गया था साथ ही मापदण्डों को पूरा करने के बाद ही काम शुरू करने के लिये निर्देशित किया गया था। इस संबंध में जारी निर्देशों का पालन उनके द्वारा किया गया है अथवा नहीं इसकी जानकारी भी कार्यालय से प्राप्त की जावेगी साथ ही पुन: निरीक्षण किया जायेगा। फिलहाल नगर परिषद में उपयंत्री की कमी के चलते भी कार्य की गुणवत्ता को लेकर उन्होंने अपनी परेशानी से अवगत कराया साथ ही उम्मीद जताई कि जल्द ही उपयंत्री की कमी को दूर कर लिया जायेगा।

Patrika
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned