कोरोना के खिलाफ ये गांव है मिसाल, ग्रामीणों ने पांच दिन का खुद लगाया जनता कर्फ्यू

ग्राम सारसडोली के लोगों ने 5 दिनों के लिए लगाया जनता कफ्र्यु
कोरोना संक्रमण रोकने उठाया कठोर कदम, किया मार्ग बंद

By: Rajkumar yadav

Published: 23 Apr 2020, 10:15 AM IST

मेंहदवानी. विकासखंड मेंहदवानी में कोरोना संक्रमण रोकने सभी गांवों में लोगों ने जागरूकता दिखाते हुए अपने अपने स्तर से लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। मंगलवार के दिन से जहां कठौतिया में 7 दिनों के लिए पूर्णत: बंद कर दिया गया है वहीं मुख्यालय के नजदीकी ग्राम सारसडोली में भी लोगों ने एकजुटता दिखाते हुए आम सहमति से बुधवार से 5 दिनों के लिए पूरा बंद कर दिया है। जगह जगह मार्गों को बंद कर दिया है और बाहर से आने जाने वाले लोगों पर नजर रखी जा रही है। सारसडोली निवासी बद्री साहू, रोहणी साहू, नारायण साहू, शिव साहू तथा अन्य व्यापारियों ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने ऐहतियात बरतते हुए सभी लोगों के सलाह मशविरा के बाद स्वेच्छा से 5 दिनों के लिए पूर्णत: बंद किया गया है।

गांव में आने के सभी रास्ते किए बंद
गाडासरई. गाडासरई थाना अन्तर्गत ग्राम पंचायत गन्नागुडा के समस्त ग्रामवासियों के आपसी सहमति से ग्राम पंचायत की सीमाओं को चारो तरफ से बंद किया गया है। लोगो ने बताया कि मुख्य मार्ग पर पुलिस की तैनाती होने के कारण दूसरे ग्रामो के लोग गन्नागुडा के अंदर से कंही भी आते जाते रहते है। कोरोना जैसी महारामी से अपने ग्राम को बचाने के लिए हमने यह कदम उठाया है और बाहरी लोगों का ग्राम पंचायत गन्नागुडा में प्रवेश पूरी तरह से बंद कर दिया है। उन्होंने यह भी बताया कि ग्राम गन्नागुडा से लगे मझियाखार रोड जो नर्मदा नदी तक जाती है। नर्मदा के उस पार से अनूपपुर जिला लग जाता है। नर्मदा पार कर वहां से भी लोगो का आना जाना रहता है। इस लिए जब तक लॉकडाउन खतम नहीं हो जाता हम अपने ग्राम पंचायत की सीमाएं बंद रखेंगे।

Patrika
Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned