हादसे में एक महिला की मौत तीन घायल

11 वर्षीय बच्चे को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय रेफर किया

By: shivmangal singh

Published: 24 May 2018, 04:53 PM IST

डिंडोरी.दो बाईकों की गत् दिवस हुई आमने सामने की भिड़ंत में दो लोगों की मौत हो गई थी। वहीं बुधवार को अनियंत्रित बाईक पुलिया से टकराने के बाद गड्ढे में जा गिरी। जिसमें सवार चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। जिन्हे उपचार हेतु उपस्वास्थ्य केंद्र गाड़ासरई में भर्ती कराया गया जहां महिला और 11 वर्षीय बच्चे को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय रेफर किया गया। लेकिन महिला ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।सुभाष पिता रामलाल 45 वर्ष, छोटेलाल पिता गंगाराम 36 वर्ष, कुन्नी बाई पिता सुभाष 40 वर्ष एवं आषीष कुमार पिता मानिकलाल 11 वर्ष निवासी नगुला थाना राजेंद्रग्राम एक धार्मिक आयोजन में शामिल होने के बाद पीपर टोला से घर जाने के लिये बस में सवार होने चंदनघाट जा रहे थे। इसी दौरान बाईक चला रहे छोटेल ने टेढ़ी के नजदीक बाईक से नियंत्रण खो दिया जिससे बाईक पुलिया में टकराने के बाद गड्ढे में जा गिरी जिसमें उक्त चारों को गंभीर चोटें आई। ग्रामीणों ने घटना की सूचना डायल 100 को दी मौके पर पहुंचे डायल 100 वाहन से चारों घायलों को नजदीकी उपस्वास्थ्य केंद्र गाड़ासरई में भर्ती कराया गया जहां महिला और बच्चे को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय रेफर किया गया । वहीं छोटेलाल और सुभाष का प्राथमिक उपचार गाड़ासरई उपस्वास्थ्य केंद्र में ही किया जा रहा था। लेकिन हालत में किसी तरह का सुधार न होते देख उक्त दोनों को भी जिला चिकित्सालय उपचार हेतु रेफर किया गया। जिला चिकित्सालय पहुंचने के पूर्व ही जहां महिला ने दम तोड़ दिया वहीं अन्य तीन घायलों को चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर चोट होने के कारण जबलपुर रेफर कर दिया है।
आकाशीय बिजली से महिला की मौत
शहपुरा. बिछिया चौकी अतंर्गत गत् दिवस ग्राम दल्का बांधा निवासी महिला अपनी मां और अन्य साथियो के साथ तेंदू पत्ता तोडने के लिए जंगल गई हुई थी। तभी शाम पांच बजे के लगभग जोरदार आंधी तूफान के साथ बारिश होने लगी। इसी दौरान महिला पियरिया बाई पति श्याम सिंह परस्ते 35 वर्ष की आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई। जिसका पता रात में चला जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई मामले में बताया गया कि पियरिया बाई अपने अन्य साथियो के साथ तेदू पत्ता तोड रही थी तभी बारिश होने लगी। जिसके बाद सभी यहां वहा छुप गये इसी दौरान पियरिया बाई महुआ के पेड के नीचे खडी थी और आकाशीय बिजली की चपेट में आ गइर्। जिसके बाद सभी अपने अपने घर चले गये शाम को जब पियरिया बाई घर नहीं आई तो उसके पति ने खोज खबर ली तब पता चला की तेदू पत्ता तोडने गये थे पर सब वापस आ गये और वह वापस नहंी आई जिसके बाद खोज खबर की गई तो मामले का पता चला पुलिस ने मर्ग कायम कर पीएम करवा शव को परिजनो को सौप दिया है।

Patrika
shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned