नदियों को छलनी कर रेत का कर रहे थे परिवहन, दबिश देकर 10 वाहन पकड़े

पुलिस ने की कार्रवाई, खनिज विभाग को भेजी रिपोर्ट
ग्रामीण ने कहा खनिज विभाग नहीं करता कोई प्रभावी कार्रवाई

By: ayazuddin siddiqui

Published: 07 Sep 2020, 08:00 AM IST

डिंडोरी. जिले में प्रतिबंध के बावजूद नदियों का सीना छलनी करने वाले रेत कारोबारियों के खिलाफ रविवार को गाड़ासरई पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की। पुलिस ने रेत परिवहन करते 10 ट्रैक्टर-ट्रालियों को जब्त किया है। पुलिस अधीक्षक संजय कुमार सिंह और एएसपी विवेक कुमार लाल के निर्देश पर पुलिस ने मां नर्मदा घाट लिखनी से एमपी 52 एए 3209, एमपी 52 एए 2706, एमपी 52 एए 3424, एमपी 52 एए 1178, एमपी 52 एए 2054, एमपी 52 एए 4263, एमपी 52 एए 2527 और एमपी 52 एए 3437 नंबर के वाहनों को जब्त किया है। इसके अलावा एक न्यू सोल्ड और बिना नंबर प्लेट की ट्रैक्टर ट्रॉली भी जब्त किया गया है। गाडासरई थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर संजय सोनवानी ने बताया कि जब्ती की रिपोर्ट बनाकर आगे की कार्रवाई के लिए जिला खनिज विभाग को रिपोर्ट भेज दी गई है। टीम में थाना प्रभारी सहित एएसआई केशव प्रसाद रावत, हेड कॉन्स्टेबल फूल सिंह मरकाम, कॉन्स्टेबल सोमेश्वर राउत, कृष्ण पाल सिंह, आदित्य शुक्ला, सतीश मिश्रा, प्रभाकर सिंह, अनिल आदि शामिल थे।
कार्रवाई के दौरान जुटी ग्रामीणों की भीड़
गाड़ासरई स्थित मां नर्मदा घाट लिखनी में पुलिस कार्रवाई के दौरान आसपास के दर्जनों ग्रामीण जुट गए। उन्होंने रेत कारोबारियों और उसके कर्मचारियों पर सख्त एक्शन लेने की मांग की। इस दौरान नागिरकों में अवैध रेत खनन-परिवहन कर नदियों और वातावरण को नुकसान पहुंचा रहे असामाजिक लोगों के लिए गुस्सा दिखा। ग्रामीण बसंत कोल ने बताया कि रेत ठेकेदार और उसके कर्मचारी काफी समय से क्षेत्र की खनिज संपदा और प्रकृति को नुकसान पहुंचा रहे हैं। कई बार भोले-भाले ग्रामीणों को जान से मारने की धमकी भी दे चुके हैं। रेत ठेकेदार के वाहन से कुछ बडी दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं। इसकी कई बार शिकायत भी की गई है। पुलिस कुछ वाहनों को जब्त जरूर करती है लेकिन खनिज विभाग की ओर से कोई ठोस कार्रवाई नहीं होती। हर बार वाहन जब्ती के बावजूद अगले ही दिन से फिर रेत का खनन और परिवहन शुरू हो जाता है। ग्रामीणों ने रेत कारोबारियों पर सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned