शाहपुर की नरिया के ग्रामीणों ने घेरा पंचायत ऑफिस

सरपंच व सचिव पर फर्जी हाजिरी भरने और सरकारी राशि निकालने का आरोप

By: ayazuddin siddiqui

Published: 26 Aug 2020, 07:41 PM IST

डिंडोरी. डिंडोरी जनपद पंचायत के अंतर्गत शाहपुर की नरिया ग्रापं के ग्रामीणों ने मंगलवार को पंचायत ऑफिस का घेराव किया। उन्होंने सरपंच , सचिव और रोजगार सहायक सहित मेट्स पर महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के कार्यों में फर्जी हाजिरी भरने और गैरकानूनी तरीके से सरकारी राशि निकालने का गंभीर आरोप लगाया। नरिया ग्राम पंचायत में सरकार की मंशा के अनुसार मनरेगा से जुड़ कई विकाय कार्य संचालित हो रहे हैं, लेकिन अनुपालन में भारी कोताही बरती जा रही है।
शिकायतकर्ता मजदूरों ने बताया कि वह पंचायत में जारी गली प्लग के काम में संलग्न हैं। आज (25 अगस्त) जब मजदूर कार्यस्थल पर पहुंचे तो न वहां मेट मौजूद था, न ही मस्टर रोल। इस वजह से सभी मजदूर बिना काम किए वापस लौट आए। कार्यस्थल से ग्राम पंचायत ऑफिस पहुंचे मजदूरों की यहां भी कोई सुनने वाला नहीं मिला। तब विवश होकर ग्रामीणों ने ऑफिस का घेराव कर विरोध प्रदर्शन किया और मीडिया के सामने पंचायत के जिम्मेदारों पर गंभीर आरोप लगाए। उनका आरोप है कि काम पर नहीं आने वाले मजदूरों की भी फर्जी हाजिरी भरकर उनके नाम से राशि निकाली जा रही है। इस वजह से योग्य मजदूरों को उचित भुगतान नहीं मिल पाता। साथ ही सरपंच-सचिव और रोजगार सहायक सांठगांठ करके गैरकानूनी रूप से सरकारी राशि का आहरण कर रहे हैं। मजदूरों ने जिला प्रशासन से आग्रह किया कि पंचायत की गतिविधियों की गंभीरता से जांच कराकर दोषियों पर सख्त एक्शन लें और मजदूरों को न्याय दिलाएं।
मनरेगा में लगातार गड़बडिय़ां खड़े कर रही हैं कई सवाल
बता दें कि 23 अगस्त को डिंडोरी जिले को मनरेगा कार्यों के संचालन में प्रदेश में पहला स्थान मिला है। आज नरिया के मजदूरों का विरोध और सरपंच-सचिव पर गंभीर दोषारोपण ने जिला पंचायत अधिकारियों की कथनी-करनी की पोल खोल दी। प्रदेश में प्रथम आने का सीधा अर्थ है कि जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में 'हंड्रेड परसेंट एक्यूरेसी' के साथ मनरेगा के कार्य संचालित हो रहे हैं, लेकिन नरिया के मजदूरों का विरोध प्रदर्शन जिला पंचायत सहित तमाम ग्राम पंचायतों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करता है। क्या जिले का नाम बिना उपयुक्त काम के सिर्फ कागजों पर ही प्रदेश में पहले स्थान पर आया है। लगातार मनरेगा में गड़बड़ी की शिकायतें भी खुद में कई सवाल खड़े कर रही हैं।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned