डायरिया : खुले में बिकते खाद्य पदार्थों से फूड पॉइजनिंग का खतरा

डायरिया : खुले में बिकते खाद्य पदार्थों से फूड पॉइजनिंग का खतरा

खुले में बिक रही खानपान की चीजों के दूषित होने की आशंका रहती है।

पानी में मक्खी-मच्छर की तादाद बढ़ती है
लंबे समय से जमा बारिश के पानी में मक्खी-मच्छर की तादाद बढ़ती है। इनसे खुले में बिक रही खान पान की चीजों के दूषित होने की आशंका रहती है। इससे कई तरह की दिक्कत हो सकती है। खासतौर पर पेट से जुड़े हुए विकार हो सकते हैं। डायरिया होने का अंदेशा भी ज्यादा रहता है।
लक्षण : पेटदर्द, उल्टी, दस्त व पेट के इंफेक्शन जैसी समस्या ज्यादा होती है।
इलाज : घर पर ही ओआरएस और नमक व शक्कर का घोल देने से स्थिति सामान्य हो जाती है। लेकिन स्थिति गंभीर होने पर आईवी फ्लूइड देते हैं। कई बार ज्यादा उल्टी होने पर मरीज के मुंह से तरल न लेने पर इंजेक्टेबल आईवी फ्लूइड देते हैं।
सावधानी : मरीज को तरल पदार्थ देते रहें।
होम्योपैथिक इलाज : पेट में मरोड़ व दर्द के साथ पानी जैसे दस्त या कब्ज में पोडोफाइलम दवा से लाभ हो सकता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned