शरीर का वजन घटाकर रोक सकते हैं गठिया

शरीर का वजन घटाकर रोक सकते हैं गठिया

मोटापे व आर्थराइटिस में सीधा संबंध होता है क्योंकि बढ़ते वजन का असर घुटनों के कार्टिलेज को प्रभावित करने लगता है

मोटापे को कम करके गठिया (आर्थराइटिस ) को काबू किया जा सकता है। जर्नल अमरीकन अकेडमी ऑफ ऑर्थोपेडिक सर्जन (जेएएओएस) के ताजा अंक के अनुसार मोटापे व आर्थराइटिस में सीधा संबंध होता है क्योंकि बढ़ते वजन का असर घुटनों के कार्टिलेज को प्रभावित करने लगता है। इससे बचने के लिए वजन नियंत्रित करना जरूरी है।

व्यायाम से रहें फिट
हड्डी रोग विशेषज्ञ के अनुसार मोटापे से पैर व कमर की हड्डियों पर अत्यधिक वजन पड़ता है जिससे वे घिसने लगती हैं और आर्थराइटिस हो जाता है। ऐसे मरीजों में कमर, पैरों, कूल्हे व एडिय़ों के दर्द की समस्या भी आमतौर पर देखने में आती हैं। इसलिए रोजाना साइक्लिंग, स्वीमिंग, ब्रिस्क वॉक, एरोबिक्स और योग आदि से वजन को कम करने का प्रयास करें।

खराब जीवन शैली, खान-पान की आदतों, शारीरिक गतिविधियों की कमी से मोटापे की दिक्कत बढ़ रही है और इससे गठिया के मरीजों की संख्या पर सीधे प्रभाव पड़ रहा है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned