सुबह उठते ही आपको आती है छींके, ये है वजह और समाधान

नाक से पानी आना, लगातार छींके आना और नाक व आंख में खुजली होना। बदनदर्द, सिर व आंखों में भारीपन, गले में खराश व खुजली...

अक्सर कुछ लोगों को सुबह उठते ही बार-बार छींकें आने की शिकायत रहती है, ऐसा मौसम में बदलाव से होने वाली एलर्जी के कारण भी होता है। हालांकि इसके कई अन्य कारक भी हैं जिससे ये परेशानी होती है। पत्रिका टीवी के शो ‘हैलो डॉक्टर’ कार्यक्रम में हुई एलर्जी विषय पर एक्सपर्ट से चर्चा के मुख्य अंश-

एलर्जी से पीडि़त व्यक्ति के एलर्जन्स के संपर्क में आते ही उसके शरीर का इम्यून सिस्टम एलर्जन्स को बाहरी और विरोधी तत्त्वों के रूप में ले लेता है। ऐसे में वह उनके खिलाफ एंटीबॉडीज का निर्माण करता है। इन एंटीबॉडीज से हिस्टामाइन कैमिकल निकलता है जिससे प्रतिक्रिया के रूप में एलर्जी के लक्षण उभरते हैं।


तापमान में बदलाव
इस मौसम में दिन का तापमान ज्यादा और रात का कम होता है। यह उतार-चढ़ाव भी एलर्जी का कारण बनता है। इस मौसम में फूलों के परागकण भी ज्यादा होते हैं जो अहम कारक है। ऐसे मेें विशेषज्ञ खयाल रखने के अलावा उचित बचाव और खानपान व लाइफस्टाइल में सुधार करने की सलाह देते हैं। ताकि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ सके।


ये दिक्कतें होती
नाक से पानी आना, लगातार छींके आना और नाक व आंख में खुजली होना। बदनदर्द, सिर व आंखों में भारीपन, गले में खराश व खुजली, खांसी, अस्थमा या दमा का दौरा पडऩा, त्वचा पर लालिमा व खुजली, कान में तकलीफ और मुंह के आसपास सूजन या कुछ निगलने व सांस लेने में परेशानी होती है।


ऐसे करें बचाव
सर्दी में गरम कपड़े नियमित पहनें। बाहर निकलते समय सिर पर टोपी पहनें व चेहरे पर मफलर या स्कार्फ बांधें। बाइक चलाते समय हेलमेट पहनें व आंखों पर चश्मा लगाएं। सांस की तकलीफ से बचने के लिए ठंड में ज्यादा देर बाहर न रहें। डस्ट एलर्जी से बचने के लिए जो कुछ भी ओढ़ते हैं उसे साफ रखें।

कालीमिर्च खाने और तुलसी के कुछ पत्तों को पानी से नियमित निगलने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। साथ ही समस्या में राहत मिलती है।

बादाम, एक अखरोट, कुछ किशमिश खाने से शरीर में बाहरी तत्त्वों से लडऩे की ताकत बढ़ेगी। साथ ही रोग के लक्षणों में कमी भी आएगी।

अस्थमा अटैक

सर्दियों में अस्थमा अटैक का खतरा बढ़ जाता है। इसके 80 फीसदी मामले आनुवांशिक होते हैं। ऐसे में जिनके परिवार में पहले से अस्थमा का कोई रोगी है उसका पूरा खयाल रखने के साथ अपना भी ध्यान रखें क्योंकि सर्द हवा के संपर्क में आते ही सांस संबंधी समस्या होती है जिससे व्यक्ति की तकलीफें बढ़ जाती हैं। अस्थमा रोगी अपने साथ इनहेलर जरूर रखें।

रखें ध्यान
ज्यादा तली भुनी, ठंडी चीजें जैसे आइसक्रीम-सॉफ्ट ड्रिंक्स से बचें। इनसे गला खराब होने की आशंका पहले से अधिक हो जाती है। संक्रमण से बचने के लिए गर्म पानी में नमक मिलाकर गरारे करें। एलर्जी में सबसे पहले नाक पर असर होता है, जलनेति क्रिया करें। इससे न केवल एलर्जी बल्कि कई बीमारियों से बचाव होता है। हमेशा गुनगुना पानी पीएं, दिन में संभव न हो तो रात में जरूर पीएं। विटामिन-डी के लिए गुनगुनी धूप में सुबह 15-20 मिनट बैठें। इससे हड्डियां मजबूत होंगी और शरीर में ऊर्जा का स्तर बना रहेगा। रोजाना कम से कम 8-10 गिलास पानी जरूर पीएं। कम से कम 30 मिनट की फिजिकल एक्टिविटी रोजाना करें। इसमें वॉक, रनिंग, जॉगिंग आदि जरूर करें।

इलाज के हैं कई तरीके विटामिन-सी डाइट लें
शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए विटामिन-सी युक्त आंवला, नींबू, संतरा समेत हाई प्रोटीन डाइट लेनी चाहिए। कोई भी समस्या होने पर तुरंत डॉक्टरी सलाह लें। - डॉ. विजय प्रकाश शर्मा, फिजिशियन, गवर्नमेंट हॉस्पिटल, जयपुर

होम्योपैथी है कारगर
होम्योपैथी में हर तरह की एलर्जी का लक्षण के आधार पर दवा देकर इलाज करते हैं। ब्रायोनिया समेत अन्य दवाएं भी हैं जिन्हें डॉक्टरी सलाह पर लेना फायदेमंद है। - डॉ. कमलेन्द्र त्यागी, होम्योपैथी विशेषज्ञ, होम्योपैथी यूनिवर्सिटी, जयपुर

आयुर्वेद में उपचार
च्यवनप्राश और आयुर्वेदिक पाउडर इम्युनिटी बूस्टर का काम करते हैं। डाइट में कच्ची, साबुत व पिसी हल्दी, लहसुन, अदरक, अजवाइन, जीरा प्रयोग में लें। 4-6 बादाम रोज खाएं। - डॉ. केवी नरसिम्हा राजू, आयुर्वेद विशेषज्ञ, जयपुर

टीवी पर पूछें सवाल
आप किसी भी बीमारी, इलाज, ऑपरेशन या सेहत संबंधी समस्या को लेकर अपने सवाल हमें लिखकर भेज सकते हैं। जवाब पत्रिका टीवी के ‘हैलो डॉक्टर’ शो में एक्सपट्र्स देंगे। यह जरूर लिखें कि आपका सवाल एलोपैथी, आयुर्वेद या होम्योपैथी के एक्सपर्ट के लिए है। फिटनेस, योग ?, आयुर्वेद, नैचुरोपैथी, हैल्दी रसोई से जुड़े सवालों के जवाब एक्सपट्र्स सेहत और जिंदगी शो में देंगे। सवाल के साथ अपना नाम, पता, उम्र, फोन नंबर भी लिखें। सवाल फोन पर न पूछें बल्कि पत्रिका हैल्थ टीम को ई-मेल से [email protected] patrika.com पर या व्हाट्सएप नंबर 7976058412 पर लिखकर भेजें, फोन पर सवालों के जवाब नहीं दिए जाते हैं। सवाल के साथ जानकारी स्पष्ट दें ताकि एक्सपर्ट आपकी समस्या को सही से जान सकें। सवालों के जवाब वाला विशेष शो हर सोमवार व मंगलवार को शाम 5 बजे प्रसारित किया जाता है।

Show More
पवन राणा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned