scriptSneezing-runny nose also sign of allergy, protect from dusty air | छींक और बहती नाक, जुकाम ही नहीं, एलर्जी का भी लक्षण, धूल और प्रदूषण से खुद को ऐसे बचाएं | Patrika News

छींक और बहती नाक, जुकाम ही नहीं, एलर्जी का भी लक्षण, धूल और प्रदूषण से खुद को ऐसे बचाएं

How to avoid allergies: सुबह उठते ही लगातार छींक आना और नाक से पानी बहना अगर आपको जुकाम लगता है, तो संभव है कि आप एलर्जी के शिकार हों। ये एलर्जी धूल और पॉल्यूशन के कारण होती है।

Updated: March 25, 2022 11:46:05 am

गर्मी के साथ पॉल्यूशन का स्तर भी बढ़ता जा रहा है। तेज हवा के साथ धूल के महीन कण सांस के साथ बॉडी में घुसकर फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने लगे हैं। ऐसे में एलर्जी और अस्थमा के मरीजों को बहुत सचेत रहने की जरूरत है। घर में रहने के दौरान भी एलर्जी या अस्थमा के बढ़ने का खतरा उतना ही होता है, जिनता बाहर निकलने पर होता है। बच्चों से लेकर बड़े-बूढ़े सभी के लिए एलर्जी का खतरा रहता है। बता दें कि कि एलर्जी के बढ़ते स्तर और लंबे समय तक समस्या रहने पर ये अस्थमा में बदल सकती हैं।
sneezing-runny_nose_also_sign_of_allergy.jpg
छींक और बहती नाक, जुकाम नहीं एलर्जी का भी संकेत, डस्ट और प्रदूषण से खुद को ऐसे बचाएं
अक्सर एलर्जी को बदलते मौसम में हाेती हैं। नाक-कान और गले के बीच में होने वाली खुजली इसका पहला लक्षण होती है। इसे बाद छींक आना और नाक बहने के साथ आंखों से पानी बहने लगता है। लेकिन लोग इसे ज्यादातर जुकाम समझ लेते हैं। जबकि ये एलर्जी होती है। एलर्जी और जुकाम में काफी अंतर होता है। गर्मी में लू या हवा तेज चलती है। इससे डस्ट के नैनो पार्टिकल्स सांस के साथ शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और नतीजा एलर्जी शुरू हो जाती है। हालांकि कई बार केवल धूल, मिट्टी और धुएं के कारण ही नहीं कुत्ते और बिल्ली जैसे पालतू पेट्स के बालों से भी एलर्जी होती है।
इसलिए होती है एलर्जी
ये छोटे छोटे परागकण नाक में घुसकर उसके भीतर श्लेष्मा की परत से चिपक जाते हैं। इसके बाद यह नाक से गले तक पहुंच जाते हैं और इम्युनिटी पर इफेक्ट डालने लगते हैं। इन नैनो पार्टिकल्स के प्रतिरोध की वजह से शरीर में हिस्टामीन निकलता हैं जो तेजी से फैलकर एलर्जी के लक्षण पैदा करता है। अगर समय पर इसका इलाज न किया जाए तो यह हल्की एलर्जी साइनस संक्रमण, लिम्फ नोड संक्रमण और अस्थमा जैसी गंभीर समस्याएं पैदा कर सकती है।
एलर्जी से क्या-क्या होती हैं दिक्कतें

  • एलर्जी या एलर्जिक राइनाइटिस हालांकि किसी भी मौसम में हो सकती है, लेकिन कई बार गर्मियों में धूल और हवा की अधिकता से जयादा होती है। जब ये डस्ट के नैनों कण नाक वायुमार्ग में चिपक जाते हैं इससे नाक और संस की नली में सूजन आ जाती है और इसी वजह से छींके, नाक में खुजली, पानी आना व नाक का बंद हो जाना जैसे लक्षण नजर आते हैं।
  • एलर्जी की वजह से साइनस में भी सूजन आ जाती है जिसे साइनूसाइटिस कहते हैं। बच्चों में एलर्जी की परेशानी यदि लंबे समय तक बनी रहती है तो कान बहना, कान में दर्द, कम सुनना, बहरापन जैसी परेशानियां भी हो सकती हैं।
  • क्योंकि नाक, कान और गला आपस में जुड़े होते हैं इसलिए किसी भी नली में सूजन आ सकती है। इससे संक्रमण हो सकता है।
  • एलर्जी की वजह से नाक में सूजन के लक्षण प्रकट होने पर साइनस में, कान में दर्द और गले में खराश और आवाज में परिवर्तन भी दिखाई देता है। यही कारण है कि यदि बचपन में ये परेशानी लंबे समय तक बनी रहे तो बड़े होने पर भी आवाज में नाक से बोलने का प्रभाव या उच्चारण साफ न होने वाली परेशानियां बनी रह जाती हैं।
home_remedies_for_allergies.jpgऐसे करें एलर्जी का इलाज
  • जब भी बाहर निकले मास्क जरूर लगाएं। ताकि धूल और पॉल्यूशन से बचा जा सके।
  • घर को धूल से मुक्त रखें। साफ-सफाई के लिए वेक्यूम क्लिनर का यूज करें और मास्क लगाकर सफाई करें।
  • कुत्ते-बिल्ली से दूरी बनाए रखें।
  • घरो में कालीन के बजाए लकड़ी या हार्ड विनाइल फर्श का उपयोग करें।
  • दरवाजा खिड़कियां बंद रखें, ताकि धूल से बचा जा सके।
एलर्जी से बचाव के घरेलू उपाय
  • धूल या एलर्जी सा महसूस होते ही गुड़ की एक डली खा लें और केवल कुल्ला करें। पानी न पीएं। खासकर ऐसा रात में सोते समय करें। गुड़ सारे डस्ट को सोख लेगी और एलर्जी नहीं होने पाएगी।
  • जब भी एलर्जी महसूस हो भाप लेना शुरू कर दें। इससे आराम मिलेगा।
  • डाइट में लिक्विड चीजें जयादा लें।
  • गुनगुना पानी पीते रहे, इससे गले की सूजन को आराम मिलेगा।
(डिस्क्लेमर: इस लेख में दी गई सभी जानकारियां सूचनात्मक उद्देश्य से लिखी गई हैं। इनमें से किसी भी सलाह पर अमल करने या किसी तरीके को अपनाने का फैसला आपका व्यक्तिगत निर्णय होगा। किसी भी निष्कर्ष तक पहुंचने से पहले कृपया किसी विशेषज्ञ से परामर्श जरूर करें।)

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

टेक्नोलॉजी के नए युग का आगाज PM मोदी ने लॉन्च की 5G सर्विस, अब 10 गुना होगी इंटरनेट स्पीडगुजरात : AC और सिलेंडर ब्लास्ट से 4 लोगों की दर्दनाक मौत, 5 घायलसंयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में रूस के खिलाफ अमरीका लाया प्रस्ताव, भारत सहित 4 देशों ने नहीं किया मतदानयूक्रेनी क्षेत्रों को रूस में 'विलय' किए जाने की Speech में Putin ने क्यों लिया भारत और चीन का नाम?LPG cylinder price: कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमतों में कमी, घरेलू LPG के दाम में राहत नहींबैक टू बैक 8 ट्वीट कर हर्षा भोगले ने लगा दी इंग्लैंड की क्लास, दीप्ति शर्मा के 'मांकडिंग' को लेकर पढ़ाया कल्चर का पाठत्योहारों के बीच कमरतोड़ महंगाई, 22 फीसदी तक महंगे हुए रोजाना के सामान, जानिए कब मिलेगी राहत...कांग्रेस अध्यक्ष पद के नामांकन की प्रक्रिया हुई पूरी, मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरूर और केएन त्रिपाठी मैदान में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.