आंख हो रही है आलसी तो करें ये उपाय

Jitendra Kumar Rangey

Publish: Jul, 08 2019 05:48:28 PM (IST)

डिजीज एंड कंडीशन्‍स

एक स्तर तक इसे ठीक नहीं किया जाए तो स्थिति विकट हो सकती है
किसी भी उम्र में भेंगापन की समस्या हो सकती है। भेंगापन के कारण आंख की रोशनी कम होने लगती है। इसे आम बोलचाल में आंख का आलसी (भेंगापन) होना कहते हैं। एक स्तर तक इसे ठीक नहीं किया जाए तो स्थिति विकट हो सकती है। यदि जन्मजात आंख में भेंंगापन है तो ग्यारह-बारह साल की उम्र से पहले आंख का ऑपरेशन करवाकर इसे ठीक करवा लेना चाहिए। इस समय आंख में रोशनी ठीक होने की ज्यादा सम्भावना रहती है।
भेंगापन की समस्या होने पर यदि समय पर ऑपरेशन करवाया लिया गया है तो यह समस्या वापस होने का अंदेशा कम रहता है। समस्या का वापस होना रेयर है। इसका कारण यह होता है कि किसी एक आंख के अंदर रोशनी बहुत कम है और ऐसे में पीडि़त के भेंगापन का ऑपेरशन किया है तो कई बार आंख वापस उसी स्थिति में आ जाती है जैसी ऑपरेशन से पहले थी। इस स्थिति में विशेषज्ञ सबसे पहले आंख की रोशनी को सही करने पर जोर देते हैं। रोशनी सही होने के बाद ही आंख सही की जा सकती है। भेंगापन के ऑपरेशन करने पहले जरूरी है कि चश्में का नम्बर ठीक हो। चश्में का नम्बर सही होने से भी कई बार भेंगापन की समस्या स्वत: ही ठीक हो जाती है। आमतौर पर भेंगापन एक आंख में होता है लेकिन देखने वाले को दोनों आंखों में महसूस होता है क्योंकि आंख का एलाइनमेंट सही नहीं होता है।
डॉ. तनम्य काबरा, नेत्र रोग विशेषज्ञ

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned